Home धार्मिक राजोद - ग्राम आनंखेडी मे श्रीमद्भागवत कथा का आयोजन, भवसागर को...

राजोद – ग्राम आनंखेडी मे श्रीमद्भागवत कथा का आयोजन, भवसागर को पार लगाने वाली है भागवत कथा – कथा वाचक श्री पाठक

राजोद। जो नीति मार्ग पर चलता है वह मोक्ष की ओर चलेगा। सबकी भावनाओं का सम्मान करना होगा, भक्ती का रंग ऐसा चढे की मन मष्तिष्क से उतरने का नाम नही ले, हरिभजन मे लीन हो जाओ, भवसागर को पार लगाने वाली है श्री मद्भभागवत कथा। उक्त बात समीप ग्राम आनंखेडी मे चल रही श्रीमद्भागवत कथा के दौरान प. दीपेश पाठक ने कही। प. पाठक ने यमुना में जलप्रदूषण रूपी कालिया नाग से यमुना को मुक्त कर एवम गोवर्धन लीला के माध्यमसे प्रकृति संरक्षण एवम प्रकृति संवर्धन का संदेश प्रदान करना व गौरक्षा का संकल्प दिलाया। प. पाठक ने कहा कि भाग्य से मनुष्य योनी मिली है इसे प्रभु भक्ति में लगाए। बड़े भाग्य से मानव तन मिला है इसे परमात्मा की भक्ति मे लगाओ। भगवान की बनाई सृष्टि है इसलिए इसे अच्छी दृष्टि से देखोगे तो सब अच्छा ही दिखाई देगा। कभी किसी का अहित न करे। कलयुग मे मन से किया गया पुण्य भी मिलता है। प. पाठक ने सुखदेव मुनि द्वारा राजा परिक्षीत की कथा का रोचक वर्णन सुनाया। कथा के पाचवे दिन सरदारपुर विधायक प्रताप ग्रेवाल पहुंचे कथा वाचक प. पाठक का शाल ओढाकर सम्मान किया। मुख्य यजमान गोवर्धन पिपलीया, शंकर पिपलीया, गोपाल पिपलीया, नारायण पिपलीया, शंभु पिपलीया ने विधायक का अभिवादन किया। श्रीमद्भागवत कथा की आरती भी की। इस अवसर पर जिला कांग्रेस उपाध्यक्ष पुष्पेंद्र सिह राठौर, सेवादल जिला उपाध्यक्ष सुरेश द्विवेदी, विष्णु चोधरी, धीरज पाटीदार, विशाल जैन आदि मुख्य रूप से मोजुद थे। 

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments

error: Content is protected !!