Home अपना शहर राजगढ़ - व्यास परिवार ने वितरण करना प्रारंभ की निःशुल्क 108 माटी...

राजगढ़ – व्यास परिवार ने वितरण करना प्रारंभ की निःशुल्क 108 माटी की गणेश प्रतिमाएँ, माटी के गणेशजी बिठाना रही है हमारी परंपरा – ज्योतिषाचार्य श्री भारद्वाज

राजगढ़। मंगलवार को नगर में माटी के गणेशजी की 108 प्रतिमाएं बनाकर निःशुल्क वितरण करना प्रारंभ किया गया। यह पुनित कार्य नगर के अंतरराष्ट्रीय कलाकार राहुल व्यास व उनके परिवार के द्वारा किया गया। मंगलवार को पांच धाम एक मुकाम माताजी मंदिर ज्योतिषाचार्य श्री पुरूषोत्तमजी भारद्वाज, हेमंत भारद्वाज, थाना राजगढ़ के एसआई रमेश डामोर, एएसआई रामसिह हटीला, आरक्षक सत्यपाल, योगाचार्य कमलेश सोनी, नीलेश सोनी सहित अन्य अतिथिया की मौजूदगी में माटी के गणेशजी हेतु पोस्टर विमोचन का कार्यक्रम भी संपन्न हुआ। जानकारी देते हुए व्यास ने बताया कि सभी गणेश प्रतिमाओं में एक-एक बीज डाला गया है ताकि जब प्रतिमा का विसर्जन हो तो उसमें से पौधा निकल सके और लोगों की आस्थाएं प्रतिमां के साथ सदैव जीवित रहे। इस अवसर पर ज्योतिषाचार्य श्री भारद्वाज ने बताया कि यह हमारी प्राचीन परंपरा रही है कि माटी के गणेशजी का निर्माण कर उनका पूजन-अर्चन किया जाए। उन्होंने कहा कि वर्तमान समय में प्लॉस्टर ऑफ पैरिस से जो मूर्तिया बनाई जाती है, वे विसर्जन के बाद भी स्थिर बनी रहती है। इससे कहीं ना कहीं प्रकृति सहित मानव जाति को भी नुकसान होता है। उन्होंने व्यास की इस पहल को सराहनीय बताते हुए अपील भी की कि माटी के गणेशजी ही विराजित किए जाना चाहिए।

पिछली बार वितरित की थी निःशुल्क 50 प्रतिमाएं – राहुल व्यास बताते हैं कि गतवर्ष भी यह काम जरूर किया गया था। लेकिन इस बार प्रतिमाओं की संख्या को बढ़ाने का प्रयाास किया गया। उन्होंने बताया कि इस काम में उनकी माता चेतना व्यास, पिता प्रहलाद व्यास एवं पत्नी परिधि व्यास सहित कलाग्रह आर्ट कक्षा के विद्यार्थियों का विशेष सहयोग रहा है। पिछली बार महज 50 प्रतिमाएं ही निःशुल्क वितरित की जा सकी थी इस बार इनकी संख्या 108 की गई हैं। अगली बार संख्या और ज्यादा बढ़ाने का प्रयास किया जाएगा। राहुल व्यास ने बताया की माटी के गणेश जी जिसे भी निःशुल्क प्राप्त करना है वे मुझसे सीधे संपर्क कर सकते है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments

error: Content is protected !!