Home क्राइम धार - पुलिस को मिली सफलता, ढाबे पर गोलीकांड के 2 आरोपियों...

धार – पुलिस को मिली सफलता, ढाबे पर गोलीकांड के 2 आरोपियों को किया गिरफ्तार, तेल व्यापारी के यहाँ भी इसी गैंग ने की थी डकैती, पुलिस के गश्ती दल पर किया था प्राणघातक हमला

धार-राजगढ़। क्षेत्र में इंदौर-अहमदाबाद हाईवे पर ढ़ाबों व तेल व्यापारियों के यहां पर डकैती डालने वाली गैंग के दो सदस्यों को पुलिस टीम ने गिरफ्तार किया हैं, इन दोनों आरोपियों को पुलिस टीम ने गुजरात क्षेत्र से गिरफ्तार किया है। इन बदमाशों ने अपनी गैंग के साथ धार जिले में दो बड़ी वारदातों को अंजाम दिया था, जिसमें से एक मामले में इंदौर-अहमदाबाद मार्ग पर ग्राम बेवटा में ढ़ाबा संचालक से लूट के दौरान फायरिंग में एक ग्रामीण की मौत हो गई थी व दूसरे मामले में पुलिस के गश्ती दल पर भी प्राणघातक हमला किया था। यह सभी बदमाश एक गैंग के रुप में पिछले कई दिनों से जिले में वारदातों को अंजाम देने के लिए प्रयास कर रहे थे। तथा धार के पड़ोसी जिले झाबुआ से आकर वारदात को अंजाम देते व खेतों तथा जंगल के माध्यम से पुन: अपने क्षेत्र की ओर भाग जाते थे। इन बदमाशों को पकडऩे में पुलिस टीम को काफी मशक्कत का सामना भी करना पड़ा, इसके लिए बकायदा धार पुलिस की टीम ने गुजरात क्षेत्र में ही सात अलग-अलग स्थानों पर दबिश दी। तब कही जाकर दो बदमाशों को पुलिस पकड़ा व पूरी गैंग के बारे में जानकारी जुटाई हैं, एसपी ने गैंग के सभी बदमाशों पर 10-10 हजार रुपए का ईनाम भी घोषित किया था।
पूरे मामले की जानकारी गुरुवार शाम के समय पुलिस अधीक्षक कार्यालय में धार एसपी आदित्य प्रतापसिंह ने दी। इस दौरान एडिशनल एसपी देवेंद्र पाटीदार, डीएसपी मोनिा सिंह, सरदारपुर एसडीओपी रामसिंह मेढ़ा, धरमपुरी टीआई लोकेशसिंह भदौरिया, अमझेरा थाना प्रभारी रतनलाल मीणा, इंचार्ज प्रभारी राजू मकवाना व व क्राईम ब्रांच प्रभारी उनि धीरजसिंह राठौर उपस्थित थे। एसपी श्री सिंह ने बताया कि अमझेरा व राजगढ क्षेञ में 9 अगस्त व 10 अगस्त को दो बडी घटनाएं हुई थी, जिसमें राजगढ क्षेञ में हुई घटना में करण नाम के एक युवक की मौत बदमाशों की गोली लगने से हुई थी। ऐसे में बदमाशों को गिरफ्तार करने के लिए एक संयुक्त टीम क्राईम ब्रांच व थानों की पुलिस को लेकर बनाई गई, जिसके बाद मुखिबर तंञ से सूचना प्राप्त हुई कि झाबुआ जिले का हिस्ट्रीशीटर बदमाश कलमसिंह ने अपनी गैंग बनाई है। तथा रात के अंधेरे में वारदात को अंजाम दे रहा है।

इंदौर की घटना में शामिल आरोपी – एसपी श्री सिंह ने बताया कि जांच के दौरान जानकारी मिली कि राजगढ में हुई डकैती की घटना की तरह अज्ञात बदमाशों ने इंदौर जिले के बेटमा क्षेञ में भी तेल व्यापारी के यहां पर वारदात को अंजाम दिया व 2 लाख 50 हजार रुपए लूटे। ऐसे में सभी घटनाओं के बिंदुओं को एक करके पुलिस ने जांच की तो सभी वारदात एक ही गैंग के द्वारा घटित होने की बात सामने आई। जिसके बाद पुलिस ने गुजरात के राजकोट में रणुजा मंदिर चौकी क्षेत्र से धर्मेंद्र व सुरेश को गिरफ्तार किया व अपने साथ धार लेकर आई। पुलिस थाने पर दोनों बदमाशों से सख्ती से पूछताछ की गई तो वारदात करने की बात कबूल की व बताया कि हमारी गैंग का सरगना कलमसिंह व खुरपसिंह है, उनके पास भी देशाी कट्टे है। कलम और खुरपसिंह केे अलावा हमारी गैंग में भंवरसिंह, मोहब्बत, बनसिंह उर्फ भूरिया एवं सुरेश है।

पहली वारदात में ही मिली बडी रकम –गिरफ्तार दोनों बदमाशों ने पूछताछ में बताया कि गैंग का लीडर कलम ने बताया था कि इन्दौर-अहमदाबाद रोड़ पर कुछ ढाबे तेल का भी कारोबार करते है तथा उनके पास अक्सर नगद पैसा रहता है। कलमसिंह के ही कहने पर दिनांक 27 जुलाई को हमारी 07 लोगो की गैंग तीन मोटर सायकल से लेबड़ गई एवं वहॉ हमने रात्रि करीब 11 बजे एकमत होकर ढाबे वाले को देशी कट्टा व फालिये से डरा-धमका कर 2,50,000/- रू. लूटे थे। एक ही लूट में हमें इतना सारा नगद रूपया मिल जाने से हमे रूपये का लालच बढने लगा व इसके बाद 9 अगस्त व 10 अगस्त को भी वारदातों को अंजाम दिया था। गुजरात से गिरफ्तार दोनों बदमाशों को पकडने में
थाना राजगढ़ से उनि राजू मकवाना, प्रधान आरक्षक सैययद अहमद, सायबर क्राईम ब्रांच से सउनि रामसिंह गौर, आरक्षक माधव, आरक्षक आदर्श एवं आरक्षक सर्वेश का महत्वपूर्ण योगदान रहा।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments

error: Content is protected !!