Home धार जिला धार - डीएनए रिपोर्ट पॉजीटिव होने से न्यायालय ने आरोपी को सश्रम...

धार – डीएनए रिपोर्ट पॉजीटिव होने से न्यायालय ने आरोपी को सश्रम कारावास तथा अर्थदण्‍ड से किया दण्डित

धार। विशेष सत्र न्‍यायाधीश पाक्‍सो धार श्री सुरेन्‍द्र सिंह गुर्जर द्वारा निर्णय दिनांक 6 अगस्त को पारित करते हुए आरोपी मजहर पिता एहमद शाह उम्र 25 साल निवासी मिल्‍लत नगर रतलाम हाल मुकाम ग्राम मण्‍डलावदा तहसिल व जिला धार को लैंगिग अपराधों के बालकों के संरक्षण अधिनियम 2012 के प्रकाश में धारा 363,376, 376(2) 5L/6 पाक्‍सो एक्‍ट में आरोपी को 366 भादवि में 7 वर्ष का कारावास व 10 हजार का अर्थदण्‍ड एवं 376 (2n) में 10 वर्ष सश्रम कारावास एव 25 हजार रूपये अर्थदण्‍ड से दण्डित किया गया तथा अर्थदण्‍ड अदा न करने पर 3-3 वर्ष का अतिरिक्‍त कारावास से दण्डित किया जाएगा।
श्रीमती अर्चना डांगी मीडिया प्रभारी जिला धार द्वारा बताया गया कि दिनांक 12 अगस्त 2020 को आरोपी अपनी छोटी साली व अपने 3 साल के बेटे को लेकर इमलीबाडी के पास दरगाह के पास ले जाने का बोलकर जिसके नही आने पर फरियादी ने दिनांक 13 अगस्त 2020 को पीथमपुर में आरोपी के विरूद्ध रिपोर्ट लिखवाई की मेरा पति (आरोपी) मेरी छोटी बहन को बहला फुसलाकर ले गया है । रिपोर्ट पर से अनुसंधान के दौरान पता चला कि दिनांक 04 सितम्बर 2020 को अभियोक्‍त्री घर वापस आई और उसने बताया कि मेरे जीजा मुझे हमेशा बोलता है कि मुझे तुम अच्‍छी लगती हो और मै तुझसे शादी करूगा मै कहती थी कि दीदी का क्‍या होगा तु चिंता मत कर मै जैसा बोलता हूँ वैसा कर दिनांक 12 अगस्त 2020 को मेरा जीजा मुझे मंडलावदा से मोटरसाइकल पर दरगाह ले गया मौका अच्‍छा है तु मेरे साथ भाग चल तो मुझे बहला फुसलाकर अझमेर लेकर चला गया था जहां किराये का कमरा लेकर जहां मुझे मेरे साथ मना करने के बाद भी मेरे साथ बलात्‍कार करता रहा। बाद मे वो मुझे जावरा छोड़कर चला गया जहां से मेने अपनी बहन के नम्‍बर पर फोन किया फिर पूलिस वहां लेने आई थी फिर मै पुलिस के साथ थाने आई।
विशेष सत्र न्‍यायालय के समक्ष विचारण के दौरान विशेष लोक अभियोजक श्रीमती आरती अग्रवाल शासन की ओर पैरवी की गई। अभियोजन अधिकारी द्वारा महत्‍वपूर्ण साक्षीयो की साक्ष्‍य कराई गयी सम्‍पूर्ण साक्ष्‍य आरोपी के विरूद्ध होने से अभियोजन अधिकारी द्वारा अंतिम तर्क प्रस्‍तुत किए गए जिस आधार पर अभियोजन द्वारा प्रस्‍तुत सम्‍पूर्ण साक्ष्‍य न्‍यायालय द्वारा प्रमाणित होने से आरोपी को सश्रम कारावास व अर्थदण्‍ड से दण्डित किया गया ।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments

error: Content is protected !!