Home अपना शहर सरदारपुर - प्रशासन ने की कार्रवाई, विभाग की जमीन पर किए गए...

सरदारपुर – प्रशासन ने की कार्रवाई, विभाग की जमीन पर किए गए अतिक्रमण को हटाया, महिला ने खाया जहरीला पदार्थ

सरदारपुर। नगर मे शनिवार को शासकीय भुमि पर से अतिक्रमण हटाने की कल बडी मुहिम हुई। स्थानीय विश्रामगृह के सामने पीडब्ल्यूडी की भुमि जो पुलिस विभाग को अलाट की गई उस पर करीब डेढ़ दर्जन पक्के अतिक्रमण को राजस्व विभाग ने पुलिस बल की उपस्थिती मे नेस्तानाबुद कर दिया। इस अतिक्रमण मे कई प्रभावशील लोगो के अतिक्रमण भी तोड़े गये फिर भी मुहिम को लेकर आरोप प्रत्यारोप लगते रहे। लेकिन शाम को मुहिम के दौरान शासकीय अमले में उस वक्त हडकंप मंच गया जब अतिक्रमण मुहिम के दौरान पीड़ित एक महिला ने जहरीला पदार्थ खा लिया। जिसके महिला को तत्काल सामुदायीक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया। जहाँ महिला का उपचार जारी हैं। कार्रवाई के दौरान एसडीएम विजय राय, एसडीओपी ऐश्वर्य शास्त्री, तहसीलदार प्रेमनारायण परमार, नायब तहसीलदार प्रकाश परिहार, हेमलता डिंडोर एवं शिखा सोनी, थाना प्रभारी बलजीत सिंह बिसेन आदि अधिकारी एवं कर्मचारी सहित भारी पुलिसबल मौजूद रहा। 

एसडीएम विजय राय ने चर्चा के दौरान बताया की सर्वे क्रम 525 की रकबा 1.317 भुमि जो पीडब्ल्यूडी विभाग की थी उसे पुलिस विभाग को आवंटित किया गया था। जिस पर कुछ लोगो ने पक्का अतिक्रमण कर कब्जा कर लिया था। एसडीएम राय ने बताया की रिपोर्ट के आधार पर तहसीलदार के द्वारा 20 लोगो को नोटिस जारी कर अतिक्रमण हटाने का समय दिया गया था लेकिन उन्होने अपना कब्जा नही हटाया जिस पर आज  को उनकी स्वंय की उपस्थिती मे तहसीलदार, नायाब तहसीलदार, पटवारी, एसडीओपी, सरदारपुर थाना प्रभारी तथा नगर परिषद का अमला व  पुलिस बल की उपस्थिती मे जेसीबी मशीन से अतिक्रमण तोडा गया। एसडीएम राय ने बताया की पास की भुमि पर एक धर्मशाला भी शासकीय भुमि पर बनी हुई है। जिसके कर्ताधर्ता को नोटिस जारी कर योग्य कार्यवाही की जायेगी। एसडीएम राय ने बताया की इसके अतिरिक्त नगर मे कई स्थानो पर शासकीय भुमि पर अतिक्रमण है उन्हे भी चिन्हीत कर जल्द तोडा जायेगा। बदनावर चोपाटी पर भी पुलिस विभाग की एक जमीन पर कब्जा है जिसे भी जल्द हटाया जायेगा।
कुछ लोगो ने कहा की उन्हे अतिक्रमण हटाने के लिये नोटिस नही दिये गये थे। जिस पर एसडीएम ने कहा की कार्यवाही नियमानुसार ही की गई है। सभी को नोटिस देकर समय दिया गया था। और यदि किसी को लगता है की उसके साथ गलत हुआ है तो इसके लिये न्यायालय है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments

error: Content is protected !!