Home चेतक टाइम्स झाबुआ - पक्षियों के लिए तत्पर राष्ट्रीय मानवाधिकार एवं महिला बाल विकास...

झाबुआ – पक्षियों के लिए तत्पर राष्ट्रीय मानवाधिकार एवं महिला बाल विकास आयोग की टीम, पक्षियों के लिए की अनाज की व्यवस्था

झाबुआ।  वैश्विक महामारी कोरोनावायरस देश भयावह बीमारी के बीच मुक पक्षी मौर, चिड़िया ,कबूतर आदि भी तपती धूप में अत्यधिक परेशान हैं। जिसके चलते राष्ट्रीय मानवाधिकार एवं महिला बाल विकास आयोग एवं पत्रकार संघ झकनावदा ने जन सहयोग के साथ  मुक पक्षियों के लिए अनाज की व्यवस्था की! झकनावदा नगर  मैं राजवाड़े (गड़ी) के अंदर खुले मैदान में करीब 400 मोरों की संख्या है ! इसके साथ ही झकनावदा के समीपस्थ मधु कन्या नदी के समीप  स्थित जगदीश  माली के खेत पर करीब 200 के आसपास मोरों की संख्या है  उक्त स्थानों पर  टीम द्वारा  पहुंचकर मुक पक्षियों के लिए चावल, गेहूं एवं मक्का की व्यवस्था की गई! एवं अपने हाथों से राजवाड़े एवं पक्षियों के बैठने के चबूतरे पर अनाज की व्यवस्था की गई।  इसके साथ ही जिले के प्रसिद्ध श्रंगेश्वर महाकाल मंदिर  के समीपस्थ थी माही नदी में मछलियों के लिए आटे की गोली बनाकर नदी में मछलियों के भोजन के लिए डाली गई। अनाज की व्यवस्था में  राष्ट्रीय मानवाधिकार एवं महिला बाल विकास आयोग के प्रतिनिधि प्रदेश अध्यक्ष मनीष कुमट,  युवा पत्रकार शुभम कोटडिया,  संजय व्यास,  अरविंद राठौर,  गोपाल विश्वकर्मा ,ठाकुर जगपाल सिंह राठौर, ओमप्रकाश अरोड़ा, रवि राठौड़ विशाल दईया का मुख्य सहयोग रहा। इसके साथ ही स्थानीय पुलिस चौकी झकनावदा के पीछे मैदान में भी करीब 50 से 75 मोरों की संख्या है वहां भी उपस्थित जनों ने मुक्त पक्षियों के लिए अनाज की व्यवस्था की इस अवसर पर चौकी प्रभारी रंजन सिंह गणावा, एएसआई जव सिंह बिलवाल, आरक्षक पंकज राजावत एवं राकेश लछेटा उपस्थित थे! जिन्होंने अपने हाथों से मुक पक्षियों को अनाज परोसा। इस पर चौकी प्रभारी गणावा एवं नंदलाल बर्फा इस कार्य की सराहना की। और  चौकी प्रभारी गणावा  ने कहा कि अपना पेट भरने की तो हर कोई सोचता है ,लेकिन इन मुक पक्षियों के लिए सोचना और उनकी सेवा करना कुछ और बात है। पैसा कमाया यही रह जाएगा पुण्य कमाया ही साथ जाएगा।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments

error: Content is protected !!