Home चेतक टाइम्स सरदारपुर - श्री भोपावर जैन महातीर्थ पर आरम्भ हुआ भव्य अंजन शलाका...

सरदारपुर – श्री भोपावर जैन महातीर्थ पर आरम्भ हुआ भव्य अंजन शलाका प्रतिष्ठा महामहोत्सव, हजारो की संख्या में धर्मावलंबी आयोजन में होंगे शामिल, साधु- साध्वी भगवंतो के शुभ सानिध्य में होगी प्रतिष्ठा

सरदारपुर। समीप ग्राम भोपावर स्थित विश्व विख्यात जैन समाज के प्राचीन तीर्थ स्थल पर आज 19 फरवरी से भव्य अंजन शलाका प्रतिष्ठा महामहोत्सव का आगाज हुआ। यह महोत्सव 26 फरवरी बुधवार तक चलेगा।  जिसमें 87 हजार वर्ष प्राचीन, कायोत्सर्ग मुद्रावाले, परम प्रभावशाली, परम कृपावंत  श्री शांतिनाथ भगवान एवं परम पूज्य मालव भूषण आचार्य देवेश श्री नवरत्न सागर सुरिश्चर जी महाराजा के गुरु मंदिर की भव्य प्रतिष्ठा होगी। भव्य प्रतिष्ठा अंजन शलाका महा महोत्सव देशभर से इस आयोजन में पधारे अनेक साधु साधु भगवंत की पावनकारी शुभ निश्रा में आयोजित होगा। जिसमें देश विदेश से एक लाख से अधिक जैन – अजैन धर्मावलंबी प्राचीन तीर्थ भोपावर में आयेगे। श्री शांतिनाथ जैन श्वेतांबर मंदिर ट्रस्ट श्री भोपावर तीर्थ के अध्यक्ष रमण भाई जैन (मॉन्टेक्स) मुंबई ने बताया कि भव्य प्रतिष्ठा अंजन शलाका महामहोत्सव  को लेकर श्री शांतिनाथ जैन श्वेतांबर मंदिर ट्रस्ट भोपावर द्वारा विशेष तैयारियां की जा रही है। देश विदेश से आने वाले धर्मावलंबियों के लिए विशेष  धर्मशाला और पांडालो का निर्माण किया जा रहा है। 

आज 19 फरवरी से साधु-साध्वी भगवंतो की पावनकारी शुभ निश्रा में भोपावर तीर्थ पर प्रतिदिन नवकारसी, नयाभीराम, अंगरचना, दीप श्रंगार, संगीतकारों द्वारा मधुर भक्ति, स्वामी वात्सल्य सहित विभिन्न धार्मिक आयोजन भव्य रूप से आयोजित होंगे। आज कार्यक्रम के शुभारंभ अवसर पर श्री माणेक स्तंभ आरोपण, तोरण स्थापना, क्षेत्रपाल स्थापना, भैरव स्थापना, 64 इंद्र स्थापना, सोलह विद्या देवी स्थापना, श्री जिनशासन देव- देवी स्थापना, जया -विजयादि देवी स्थापना, श्री वेदिका पूजन,श्री लघु नंदावर्त पूजन, श्री पंचकल्याणक पूजा आदि का आयोजन हुआ।

देश भर से आएँगे श्रद्धालु – भोपावर तीर्थ पर आयोजित प्रतिष्ठा महामहोत्स्व में देशभर से श्रद्धालु आएँगे।  आयोजन के तहत कल 20 फरवरी गुरुवार को श्री दशदिकपाल पूजन, श्री नवग्रह पूजन,श्री अष्टमंगल पूजन, श्री लघु सिद्ध चक्र पूजन, श्री लघु विसस्थानक पूजन, 21 फरवरी शुक्रवार को माता-पिता इंद्र- इंद्राणी, धर्माचार्य, प्रतिष्ठाचार्य स्थापना, च्यवन कल्याणक, 14 स्वप्न दर्शन, सौधर्म इंद्र का सिहासन कंपायमान आदि। 22 फरवरी शनिवार को जन्म कल्याणक, 56 दिक्ककुमारीयों द्वारा जन्मोत्सव, इंद्र सिहासन कंपायमान, हरिणगमेषीदेव  द्वारा सुघोसा घंटनाद, मेरु पर्वत पर 64 इंद्रो  द्वारा भगवान के 250 अभिषेक।

23 फरवरी रविवार को प्रातः सर्व जिन बिम्बो का अट्ठारह अभिषेक, प्रियंवदा दासी द्वारा  जन्म बधाई, नामकरण,पाठशाला गमन आदि, 24 फरवरी सोमवार को मामेरा, लग्न महोत्सव, राज्याभिषेक, नव- लोकांतिक देवों द्वारा प्रभु को दीक्षा ग्रहण हेतु विनती, 25 फरवरी मंगलवार को वर्षीदान का भव्य वरघोड़ा, दीक्षा कल्याणक विधान, केवल ज्ञान कल्याणक, निर्वाण कल्याणक, मध्य रात्रि में अंजनविधान एवं श्री केवल ज्ञान कल्याणक लाभार्थी एवं अतिथि सम्माननीय परिवार का अभिनंदन समारोह एवं  26 फरवरी बुधवार को  प्रातःप्रभातिया, शुभ लग्ने, शुभ नवमांशे पावन प्रभु प्रतिमा प्रतिष्ठा, देव- देवी प्रतिष्ठा,ध्वज दंड – कलश प्रतिष्ठा , विजय मुहूरते श्री अष्टोत्तरी शांतिस्नात्र महापूजन होगा। 

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments

error: Content is protected !!