Home चेतक टाइम्स धुलेट - अनियंत्रित होकर पलटा ट्रक, बड़ा हादसा होने से बचा, अधूरे...

धुलेट – अनियंत्रित होकर पलटा ट्रक, बड़ा हादसा होने से बचा, अधूरे निर्माण से आफत में जान, 3 दिन में हो गई 3 घटनाएं

विनोद सिर्वी, धुलेट। आज बुधवार को इंदौर अहमदाबाद नेशनल हाईवे धुलेट में जर्जर संकीर्ण पुलिया के पास एक ट्रक अनियंत्रित होकर रोड की साइड में पलट गया जिसमें चालक को मामूली चोटें आई। सुबह लगभग 9:30 बजे अहमदाबाद से फार्च्यून भर कर कानपुर जा रहे ट्रक क्रमांक यूपी 78 डीएन 7229 सामने से आ रही मोटरसाइकिल को बचाने में रोड की साइड में पलट गया। वाहन चालक वाहिद अय्यूब खान अकबरपुर जिला कानपुर ने बताया कि अहमदाबाद से फॉर्च्युन भर कानपुर जा रहा था। तभी पुलिया से थोड़ा आगे सामने से आ रहे मोटरसाइकिल वाहन को बचाने में वाहन अनियंत्रित हो गया जिससे रोड की साइड में पलट गया। ग्रामीणों की मदद से ट्रक चालक को ट्रक से बाहर निकाला गया। ट्रक ड्राइवर का टोल टैक्स जूनापानी (दत्तीगांव) की एंबुलेंस में उपचार किया। तथा मौके पर मौजूद हंड्रेड डायल तथा राजगढ़ थाने से एएसआई राजाराम भगोरे,आरक्षक जितेंद्र गुर्जर, जगदीश कछावा आदि ने घटनास्थल पर पहुंचकर आवागमन सुचारू रूप से शुरू करवाया।

3 दिन में हो गई तीन घटनाएं –
इंदौर अहमदाबाद नेशनल हाईवे अधूरे पड़े हाईवे में 16 किलोमीटर अभी भी टु लाइन ही बना है। आवागमन बढ़ा परंतु संकरे रास्ते पर वाहनों को निकलने में काफी दिक्कत आ रही है। जिसमें धुलेट के पास जर्जर संकीर्ण पुलिया पर भी आए दिन जाम लग जाता है। जिसमें सैकड़ों वाहनों के साथ हजारों यात्री घंटों परेशान रहते हैं। 17 नवंबर से अभी तक इस रास्ते पर 4 दुर्घटनाएं हो चुकी है। जिसमें दो लोगों की मौत हो चुकी। सोमवार को श्यामपुरा के व्यक्ति सूरज कि ट्रक की टक्कर से मौके पर ही मौत हो चुकी थी वहीं 17 नवंबर को भी दो ट्रकों के आपस में भिड़ंत में एक व्यक्ति की मौत तथा एक गंभीर रूप से घायल हो चुका था। वहीं मंगलवार को ट्रक ने धुलेट के नारायण प्रजापत के ट्रैक्टर ट्राली को टक्कर मार दी जिसमें ट्राली चेचीस से से अलग ही हो गई थी। वहीं बुधवार को मोटरसाइकिल चालक को बचाने में ट्रक पलट गया गनीमत रही कि किसी को कोई जनहानि नहीं हुई। प्रतिदिन घटनास्थल के आसपास सुबह-सुबह मजदूरों का आवागमन रहता है। और यहीं से मजदूरों की सप्लाई होती है।
गुजरात के जितेंद्र कुमार ने बताया कि जब भी मोहनखेड़ा दर्शन के लिए आते हैं। तो हमेशा यही डर लगा रहता है। कि एमपी में अधूरे पड़े फोर लाइन पर या तो कुछ दुर्घटना हुई होगी या जाम लगा हुआ होगा।
गांव के बाबुलाल चौधरी, मोहनलाल सतपुड़ा, पारस सिंदडा, अशोक देवड़ा, पवन कर्मा आदि ने बताया कि  बताया कि एनएचएआइ को इस और ध्यान देना चाहिए। प्रतिदिन हों रही दुर्घटना के बाद भी जिम्मेदार इस और ध्यान नहीं दे रहे हैं। जल्द ही समस्या का समाधान नहीं हुआ तो किसी दिन बढ़ी दुर्घटना हो सकती है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments

error: Content is protected !!