Home क्राइम रिंगनोद - बैंक ऑफ़ इंडिया के खाताधारकों के साथ हुई 34 लाख...

रिंगनोद – बैंक ऑफ़ इंडिया के खाताधारकों के साथ हुई 34 लाख से अधिक की धोखाधड़ी, तात्कालीन बैंक मैनेजर सहित केशियर पर दर्ज किया गया प्रकरण

रिंगनोद। नगर की बैंक ऑफ़ इंडिया की शाखा के 22 खाताधारकों को बिना जानकारी के खातो में लिमिट बढ़ाकर और ऋण खातो में से बैंक कर्मचारी द्वारा राशि निकालने का आरोप खाताधारकों ने लगाया था। जिस पर बैंक के उच्च अधिकारियों द्वारा रिंगनोद के बैंक शाखा के समस्त स्टाफ को बदल कर दो कर्मचारियों पर निलंबित कर दिया था। मामले में बैंक के वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देशन में जांच की गई। जाँच के बाद मामले में तत्कालीन बैंक मैनेजर और केशियर पर धोखाधड़ी और गबन का प्रकरण दर्ज किया गया हैं।

34 लाख से अधिक का हुआ गबन –
बैंक के अधिकारियो द्वारा की गई जाँच में पाया गया कि तत्कालीन मैनेजर और कैशियर ने धोखाधड़ी कर 34 लाख 79 हजार रुपए की राशि का गबन किया। जिसके बाद अधिकारियों के निर्देश पर बैंक आफ इंडिया शाखा रिंगनोद के वर्तमान मैनेजर शंकरलाल चौधरी ने कल पुलिस को आवेदन देकर बैंक के तत्कालीन मैनेजर अतुल कुमार यादव और केशियर पन्नालाल राठौड़ के खिलाफ धोखाधड़ी और गबन का प्रकरण दर्ज करवाया।

22 खाताधारकों से साथ हुई लाखो की धोखाधड़ी –
तत्कालीन बैंक मैनेजर और कैशियर द्वारा लाखो रूपये की धोखाधड़ी होने का मामला सामने आने के बाद काफी हंगामा भी हुआ था। मामले में बैंक के वरिष्ठ अधिकारियों ने बैंक का स्टाफ बदल दिया था। जानकारी के अनुसार बैंक के खाता धारक, गणपत पिता सवेसिह, धापू बाई पति शंकर, ओटा कालूजी मोलवा, झम्मू बाई पति आयदान, थावर इंदर सिंह, दिलीप बिजया भील, अमृत गंगाराम पाटीदार, नरसिंह शिवाजी पाटीदार  सभी निवासी रिंगनोद एवं मंटू पाटीदार,  ईश्वर भेरुलाल, जीवन लाल पाटीदार, गंगाराम नत्था सभी निवासी बडोदिया तथा दोपति बाई बलदेव पाटीदार  निवासी बिछिया, नंदराम पिता नरसिंह,  तोलाराम दितिया दोनों निवासी फुलगावड़ी, गेंदा लाल पिता रामलाल, केडिया पिता नारू भील दोनों निवासी आमलिया, तेजा लाल सीरवी, नारायण दीपाजी दोनों निवासी गुमानपुरा, अमरालाल मोलवा, राजेश गुलाब मेड़ा दोनों निवासी कंजरोटा एवं रामेश्वर भेरुसिंह डांगी निवासी भोपावर के साथ धोखाधड़ी हुई है।

फ़िलहाल आरोपी फरार –
मामले में वर्तमान बैंक मैनेजर शंकरलाल चौधरी ने बताया कि पूर्व मेनेजर और केशियर द्वारा खाता धारकों की राशि निकालकर धोखाधडी की गई थी। जिस पर बैंक की और से मेरे द्वारा प्रकरण दर्ज करवाया गया है। वही रिंगनोद चौकी प्रभारी सीताराम उपाध्याय ने बताया कि बैंक मैनेजर की रिपोर्ट पर हमने
हमने धोखाधड़ी और गबन के मामले में बैंक बैंक के पूर्व मेनेजर अतुल यादव और केशियर पन्नालाल राठौर पर भादवी की धारा 420 एवं 406 में प्रकरण दर्ज किया है। मामले की जाँच कर रहे हैं। फ़िलहाल दोनों आरोपी फरार हैं।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments

error: Content is protected !!