सारंगी। नगर के सभी मंदिरों में राम नवमी का पर्व कोरोना महामारी के चलते कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए सिर्फ मंदिरों में भगवान की पुजारी द्वारा आरती कर मनाया गया। चैत्र नवरात्र पर्व का भी समापन होने से मंदिरों में भी कार्यक्रम होते थे। पर इस बार देखने को नहीं मिले।  चेत्र नवरात्रि के चलते नगर में अंबे माता मंदिर, माताजी मंदिर पर रामनवमी के चलते विशेष धार्मिक अनुष्ठान किए जाते हैं। किसान मोहल्ला माताजी मंदिर पर पंडित जयराज भट्ट द्वारा नो दिन तक अकेले बैठकर मां की आराधना की। लेकिन कोरोना महामारी को देखते हुए इस बार दो लोगों द्वारा ही हवन में आहुति देकर आज रामनवमी पर्व पर एक कुंडीय यज्ञ कर नवरात्रि पर्व का समापन किया।  रामनवमी के चलते नगर के राम मंदिर राधा कृष्ण मंदिर सरकारी राम मंदिर सहित अन्य मंदिरों में भगवान का आकर्षक श्रंगार कर महाआरती की गई।

12 बजे मंदिरों में हुई महाआरती -

नगर में रामनवमी पर्व पर भगवान श्री राम व हनुमान भक्तों में विशेष उत्साह देखा गया। हालांकि कोरोना के चलते उन्हें मंदिरों में जाने नहीं दिया गया। अधिकतर लोगों ने अपने घर पर ही पर्व मनाया। लेकिन इस बार कोई विशेष कार्यक्रम मंदिरों में नहीं हुए। राम मंदिर के पुजारी मूलचंददास  बैरागी ने बताया राम नवमी के अवसर पर भगवान का विशेष श्रृंगार कर दोपहर 12 बजे महाआरती की गई। 

प्रतिवर्ष रामनवमी पर्व के अवसर पर सैकड़ों की संख्या में श्रद्धालु भाग लेते हैं लेकिन इस बार कोरोना महामारी के चलते शासन की गाइड लाइन के अनुसार दो लोग इसमें मंदिर का पुजारी और यजमान के द्वारा ही महाआरती कर पर्व का समापन किया गया। 

पुलिस प्रशासन भी सतर्क रहा - सारंगी चौकी प्रभारी अशोक बघेल, एएसआई जितेंद्र सिंह अपने स्टाफ के साथ पूरे नगर में भ्रमण करते हुए लोगों को जिला प्रशासन के निर्देशों के पालन करने के लिए समझाइश देते रहे।

Post a comment

 
Top