राजोद। बढ़ते हुए कोरोना संक्रमण को देखते हुए एसडीएम, तहसीलदार, स्वास्थ्य कर्मचारियों सहित पुलिस अधिकारियों द्वारा राजोद नगर के व्यापारियों की बेठक ली। जिसमे कोविड-19 जानकारी देकर कोरोना कर्फ्यू का पूर्ण रुप से पालन करने की अपील की। बैठक में नायब तहसीलदार प्रकाश परिहार ने कहा की कोरोना की दूसरी लहर एक विकराल रूप ले चुकी है देश में अस्पतालों में बेड कम पड़ने लगे हैं। जिसके कारण इलाज में भी काफी समस्या आ रही है। साथ ही यह एक ऐसी बीमारी है, जिसमें कोई भी अपना व्यक्ति हाल चाल पूछने नहीं आ सकेगा। अगर यह बीमारी से आप लोग पॉजिटिव पाए गए तो सभी लोग आपके आस-पास रहने वाले भी संक्रमण की चपेट में आ सकते हैं और जो व्यापारी आदि शटर खोलकर अपनी जान जोखिम में डालकर व्यापार कर रहे हैं। वे अपने परिवार की जान जोखिम में  डालते हुए व्यापार कर रहे है। तहसीलदार परिहार द्वारा उन्हे सलाह दी साथ ही अंतिम अंतिम चेतावनी देते हुए कहा कि यदि अगर इसके बाद भी अगर व्यापारी नहीं माने तो हमारे द्वारा दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी। बेठक में जनता द्वारा कालाबाजारी का मुद्दा उठाया जिस पर नायब तहसीलदार परिहार ने कहा की  जो व्यापारी खाद्य सामग्री की कालाबाजारी कर रहे हैं उन पर भी वैधानिक कार्रवाई होगी। जो भी व्यापारी इस तरह से कोई भी मौके का फायदा ना उठाएं और कालाबाजारी नहीं करें। यह एक वैश्विक महामारी है, इसको कमाई का जरिया ना बनाते हुए आम जनता का सहयोग करें और इसके बाद भी अगर कोई इस प्रकार की कालाबाजारी की जानकारी देता है तो प्रशासन द्वारा कालाबाजारी एक्ट के तहत कानुनी कार्रवाई की जाएगी। वही प्रशासन की गाइडलाइन बताते हुए कहा की विवाह समारोह में 50 लोगों की अनुमति एसडीएम कार्यालय से लेनि होगी और किसी धर्मशाला में 50 व्यक्तियों से ज्यादा लोगों नहीं रहे अन्यथा अधिक होने पर धर्मशाला संचालक पर कार्रवाई की जाएगी। शवयात्रा में 25 लोगों की अनुमति है, किराना व्यापारी को होम डिलीवरी देना होगी एवं धार्मिक व सामाजिक कार्यक्रम के लिए अनुमति लेना होगी। बेठक में टीआई बीएस वसुनिया ने व्यापारियों को अंतिम हिदायत देते हुए कहा की कोई भी व्यापारी अगर नियमों का उलंघन कर व्यापार करता है तो उसपर  कानुनी कार्रवाई की जाएगी। ग्राम पंचायत सचिव भारत सोलंकी द्वारा बताया गया कि पंचायत द्वारा पूरे नगर में सैनिटाइजर का छिड़काव करवाया जा रहा है। बैठक में रामोला मंहत गणपतदास, सचिव भारत सिंह सोलंकी, एएसआई कैएस चौहान, प्रधान आरक्षक मंगल मेडा, आरक्षक रितेन्दृ रजावत, सचिन जाट, कैलाश बारिया, लाखन सिंह निनामा, सैनिक बाबु मकवाना सहित नगर के व्यापारी एवं जनप्रतिनिधि मोजूद थे।

Post a comment

 
Top