राजगढ़। नगर के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर स्टाॅफ के अभाव में केंद्र की व्यवस्था चमराई रही हैं। कोरोना टीकाकरण प्रारंभ होने के बाद प्रतिदिन 100 से 150 लोगों को टीकाकरण किया जा रहा हैं। जबकी अन्य मरीज भी उपचार के लिए भी पहुंच रहे हैं। लेकिन मेडिकल आॅफिसर, एक नर्स, एक वार्ड बाॅय और स्वीपर पर पूरे अस्पताल का दामोरदार हैं।  स्टाॅफ कम होने के कारण कई प्रकार से कार्य प्रभावित होते हैं। 

गुरूवार की बात की जाएं तो स्थानीय केंद्र पर पदस्थ नर्स की ड्यूटी सरदारपुर लगा दी गई थी। ऐसे में डाॅक्टर राहुल कुलथिया द्वारा मरीजों का चेकअप करने के बाद अपना कैबिन छोड़कर ओपीडी की पर्ची बनाई और मरीजों को दवाई भी बांटी गई। जबकी कोरोना टीेका लगाने के लिए बड़ी संख्या में लोग एकत्रित हो गए थे। इसके चलते नर्स को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र से पुनः स्थानीय केंद्र पर बुलवाया गया हैं एवं टीकाकारण प्रारंभ हो सका। गौरतलब है कि स्थानीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर एक फार्मासीस्ट पदस्थ हैं। जो मातृत्व अवकाश पर है। साथ ही एक महिला चिकित्सक कोरोना संक्रमित होेने के कारण अनुपस्थित हैं। एक वार्ड बाॅय की गत वर्ष से धार में ड्यूटी लगा रखी है। इसके अलावा एक दाई एवं आई, 3 नर्स और 3 वार्ड बाॅय पद स्वीकृत हैं, लेकिन एक नर्स और एक वार्ड बाॅय ही कार्यरत हैं।

गुरुवार को स्टाफ के अभाव में चरमराई व्यवस्था को देखकर स्वास्थ्य केंद्र पर टीका लगवाने पहुँचे कुछ लोगो ने यह आलम देखकर वीडियो भी बनाकर वायरल किया। 

मामले में सीबीएमओ डॉ. शिला मुजाल्दा से चर्चा की तो उन्होंने बताया कि स्टॉफ की कमी हैं, जिसे पूरा करने के लिए हमने उच्च अधिकारियों को अवगत करवाया हैं।

Post a comment

 
Top