सरदारपुर। भोपावर मार्ग पर स्थित हिंदू-मुस्लिम कौमी एकता का प्रतीक हजरत चांद शाह वली दाता रेेहमतुल्ला अलैेह का एक दिवसीय उर्स कोविड-19  के बढ़ते मामलों के चलते इस वर्ष शनिवार को सादगी के साथ मनाया गया। उर्स पर कमेटी सदस्यों द्वारा बड़ा आयोजन ना करते हुए कमेटी सदस्यों द्वारा ही आस्ताने पर चादर पेश कर दुआएं मांगी गई। उर्स कमेटी के सदस्य असलम खान चक्कीवाला, अशफाक ठेकेदार और अतिक कुरैशी ने बताया कि प्रतिवर्ष उर्स बड़ी ही धूमधाम  से मनाया जाता है। जिसमें लंगर-ए-आम और सूफियाना कव्वाली का प्रोग्राम रखा जाता है जिसमें राजस्थान, महाराष्ट्र, गुजरात और झाबुआ, अलीराजपुर, बड़वानी, मनावर, धरमपुरी, अमझेरा,सरदारपुर, राजगढ़, रिंगनोद,धार,इंदौर आदि जगह के बड़ी संख्या में जायरीन आते हैं और चादर पेश कर दुआएं मांगते हैं लेकिन इस वर्ष कोविड-19  के बढ़ते मामलों के चलते समिति द्वारा यह निर्णय लिया गया कि उर्स पर सभी कार्यक्रमों को निरस्त करते हुए कमेटी सदस्यों द्वारा ही चादर पेश की गई। साथ ही बाबा अब्दुल रशीद  सैलानी और मौलाना अब्दुल रशीद अशरफी द्वारा कोरोना के खत्म होने की और देश की खुशहाली, भाईचारे की दुआएं मांगी गई। चादर पेश करते समय हाजी मंजूर अली सैय्यद, हाजी आफताब मोहम्मद कुरेशी, सरफराज कुरेशी, राहुल चौहान, सरवर खान, शाकिर हुसैन, सहित उर्स कमेटी के सदस्य मौजूद रहे।

Post a comment

 
Top