राजगढ़। समीप ग्राम तिरला में मंगलवार को आदिवासी लोक संस्कृति के पर्व भगोरिया का काफी उल्लास रहा।  भगोरिया में आदिवासी समाज अपने पारंपरिक परिधान में पहुँचा था। आदिवासी समाज द्वारा आगामी त्योहार हेतु खरीदी भी की गई। आसपास के अनेक गाँव से आदिवासी समाजजन भगोरिया में पहुँचे थे। वही जनजाति विकास मंच तहसील सरदारपुर द्वारा तिरला भगोरिया में ढोल-मांदल दलो का गुलाल से तिलककर तथा भगवा गमछा एवं नारियल भेट कर उनका स्वागत-सम्मान किया। जनजाति विकास मंच ने बताया की यह त्यौहार आदिवासी जनजाति समाज का प्रमुख त्यौहार है। भगोरिया देश विदेश में प्रचलित त्यौहार है। भगोरिया में आदिवासी के युवक-युतियों ने ढोल-मांदल के थाप पर नृत्य किया।  इस दौरान जनजाति समाज के रामप्रकाश मछार, गोविन्द वडखिया, भुपेंद्र भुरिया, दिलीप मछार, भीलु बारिया, उमेश भाबर, कमलेश मावी, बालसिह, अनिल सिंगार, जगलसिह , कमल, संजय , गोविन्द आदि उपस्थित थे।

Post a comment

 
Top