दसई। लाबरीया -दसई रोड पर स्थित अति प्राचीन तीर्थ स्थल जयंतीमाता व उण्डवा नदी के दूसरे तट पर  विराजमान बाबा श्री उण्डेश्वर  महादेव धाम वृक्ष मंदिर पर 11 मार्च गुरुवार को महाशिवरात्रि महा महोत्सव  का आयोजन हरियाली लाओ जल बचाओ महा यज्ञ के तहत दीव्य आयोजन  होगा। उक्त कार्यक्रम की जानकारी देते हुए माँ जयंती धाम सेवा समिति के संस्थापक रामकरण पटेल अध्यक्ष सुरेश भूत ने बताया कि महाशिवरात्रि का आयोजन पर्यावरण सुधार क्रांति के रूप में पिछले 19 वर्षों से मनाया जाता रहा है इस वर्ष भी महापर्व  मनाया जाएगा जिसमें प्रातः श्री उण्डेश्वर  महादेवजी का रुद्राभिषेक क्षेत्र के वीद्वान पं पंकज शास्त्री एवं मंडली द्वारा करवाया जाएगा अभिषेक के लाभार्थी ओमप्रकाश एकरंगा होंगे व रात्रि आयोजन के लाभार्थी भरत होटल वाला होंगे।  बाबा का मनोहारी  दिव्य श्रृंगार पं गजेंद़ पौराणिक, दिनेश पटेल, डीसी सोनगरा, सरदार पाटीदार, पप्पू पाटीदार , दीपक परमार  द्वारा किया जाएगा इसी क्रम में संस्था द्वारा क्षेत्र के सामाजिक हस्तियों का सम्मान समारोह व पर्यावरण सुधार पर व्याख्यान माला होगी महा आरती के पश्चात  फलाहारी प्रसादी का वितरण होगा संध्या बेला में सहस्त्र दीप यज्ञ का कार्यक्रम गोपाल पाटीदार, जीवन सर, दीनेश वालासीवा, आजाद पाटीदार, हरि सामजी द्वारा किया जाएगा रात्रि मे प्रसिद्ध कबीर भजनकार श्री गुरु चरणदास व अर्जुन मुनिया तथा मंडली द्वारा मधुर वाणी से भजनों का अमृत पान रात्रि भर कराया जाएगा उक्त आयोजन में भाग लेने के लिए  क्षेत्र के 12 गांव में समिति द्वारा पर्यावरण प़ेमी मित्रों को  माँ जयंती का दिव्य संदेश पत्र भेजा गया है स्मरण रहे कि माँ  जयंती धाम व श्री  उण्डेश्वर धाम में संस्था द्वारा पिछले 19 वर्षों से यहां की पावन भूमि पर लगातार वृक्षारोपण किया जा रहा है तथा वृक्षारोपण के लिए क्षेत्र में जनजागृति का संदेश भेजा जाता है वर्तमान समय में दोनों मंदिरों के परिसीमन क्षेत्र की पथरीली पहाड़ी भुमी पर चरण बद्ध वृक्षारोपण अभियान चलाकर  25 हजार  से अधिक पौधे का रोपण किया गया था वर्तमान मे लगाये गये पोधो ने  वृक्ष का रूप ले लिया है संस्था द्वारा अन्य स्थानों पर भी वृक्षारोपण किया गया क्षेत्रभर में पर्यावरण प्रेमियों को 95 हजार से अधिक पौधों का वितरण भी किया जा चुका है जल संरक्षण भूमि संरक्षण व लोक कल्याण कार्यों को लेकर समिति वर्ष भर कोई न कोई संदेश जन जागृति का देती है महाशिवरात्रि के अवसर पर सुबह से लेकर शाम तक शाम से लेकर अल रात्रि तक  स्थल पर दूरदराज से पर्यावरण प्रेमी एवं शिवप्रेमी भक्तजन  भाग लेते  है समिति के दशरथ सामभाणेज, विष्णु पाटील, ओमप्रकाश धराडवाला, राजाराम भग्गाभेरावाला ,गोपाल भालोड, केलाश वालासी गोपाल, जीवाहरचंद,सत्यनारायण मारू, गोलु, यशवंत भीमाजी, सहीत अनेक पर्यावरण प्रेमी कार्यक्रम को लेकर तैयारियों में जुट गए हे।

Post a comment

 
Top