अमझेरा। प्राप्त जानकारी जे अनुसार धार जिले के बाग वन परिक्षेत्र व गंधवानी थाना क्षेत्र के बोरडाबरा के जंगलों में वन विभाग की टीम 17 मार्च को  हुई घटना के बाद वन्य प्राणी की तलाश में जंगल मे पहुंची थी। वहां टीम को झाड़ियों के पीछे म्रत अवस्था मे तेंदुआ मिला।  डॉक्टर के द्वारा जांच करने पर तथा पोस्टमार्टम करने पर पाया गया कि तेंदुए का शिकार हुआ है, उसे गोली मारी गयी है। आपको बता दें कि 17 मार्च को एक घटना विदित हुई थी जिसमे कदवाल के किसान रायसिंह पिता जाम सिंह के ऊपर तेंदुए ने हमला कर दिया था। जिसकी उपचार के दौरान  मौत हो गई थी। उसी के सम्बंध में वन्य प्राणी की सर्चिंग के लिए 18 मार्च को वन विभाग की टीम जंगल में पहुंची थी। सर्च किया जा रहा था उसी दौरान टीम को   रेहडदा  के कक्ष क्रमांक 550 में नाले में घनी झाड़ियों के बीच में एक तेंदुआ का शव मिला जिसका की वेटरनरी डॉक्टर से परीक्षण करवाया गया। उसकी पीठ में एक  घांव था जब उसका पोस्टमार्टम किया गया तो एक बुलेट भी निकली। 

वही  वन विभाग के  संतोष कुमार रनशोरे ने बताया कि प्रथम दृष्टया यह मामला शिकार का है। एसटीएफ की टीम इसमें जांच करेगी। विस्तार से जांच होगी तो और भी चीजें सामने आएगी। शिकारी अभी पकड़ से बाहर है, तेंदुए का पोस्टमार्टम हो गया है। वन्य प्राणी अधिनियम 1972 के तहत विभिन्न धाराओं में कार्रवाई की जाएगी, जांच के बाद धाराएं और जोड़ दी जाएगी ।

Post a comment

 
Top