सरदारपुर। शासकीय सेवा मे सेवानिवृति एक अहम हिस्सा है। कर्मचारी जब अपनी सेवा की एक निश्चीत अवधी को पुर्ण कर शासकीय सेवा से विदा होता है तो यह क्षण दुखद होता है। लेकिन सुख इस बात  का होता है की एक बेदाग छबि के साथ वह अपने कार्यकाल की अमिठ छाप छोड कर जाता हैै। उक्त विचार रविवार को पुलिस अधिक्षक आदित्यप्रताप सिंह ने सरदारपुर एसडीओपी ऐश्वर्य शास्त्री के सेवानिवृति पर आयोजित विदाई समारोह के दौरान व्यक्त किये। पुलिस अधिक्षक कार्यालय मे आयोजित विदाई समारोह मे कार्यक्रम के मुख्य अतिथी एसपी आदित्य प्रतापसिंह थे। अध्यक्षता अतिरिक्त पुलिस अधिक्षक देवेन्द्र पाटिदार ने की। एसपी श्री सिंह ने कहा की श्री शास्त्री जैसे जांबाज अफसर के चलते पुलिस विभाग गौरान्वित हैै। श्री शास्त्री ने सरदारपुर अनुविभाग मे दो वर्ष  के कार्यकाल मे कभी भी कानुन और व्यवस्था की स्थिती को बिगडने नही दिया। आपने श्री शास्त्री के कार्यकाल की उपलब्धियो को बताते हुये कहा की श्री शास्त्री ने टीम वर्क के साथ कार्य कर कई घटनाओ के पर्दाफाश मे अहम भुमिका निभाई अमोदिया के अंधे कत्ल का एक सप्ताह के भीतर पर्दाफाश करना इनमे से अहम है। श्री  सिंह ने कहा की लुट डकैती के लिये कुख्यात जामंदा-भुतिया मे दबिश देना हो या फिर इस क्षैत्र के अपराधियो की धरपकड करना हो श्री शास्त्री ने हमेशा निडरता के साथ कार्य कर वारदातो पर अंकुश लगाया। अतिरिक्त पुलिस अधिक्षक देवेन्द्र पाटिदार ने भी श्री शास्त्री के कार्यकाल का उल्लेख करते हुये उनके उज्जवल भविष्य की कामना की। एसपी आदित्यप्रताप सिंह ने सेवानिवृत हुये एसडीओपी ऐश्वर्य शास्त्री का पुष्पहार से स्वागत कर शाल ओढाकर शिल्ड प्रदान की एंव उनके उज्जवल भविष्य की कामना की। इस अवसर पर जिले के सभी एसडीओपी,थाना प्रभारी एंव सरदारपुर एसडीओपी कार्यालय का स्टाफ उपस्थित था।


Post a comment

 
Top