भोपाल। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में प्रति माह एक लाख लोगों को रोजगार मिले ऐसी व्यवस्था करना आवश्यक है। इसके लिए औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों का प्रभावी संचालन सुनिश्चित करना जरूरी है, जिससे यहाँ के विद्यार्थियों का शत-प्रतिशत प्लेसमेंट हो सके। रोजगार, आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश के निर्माण का प्रमुख स्तम्भ है। प्रत्येक जिला अपने परिवेश के अनुसार अधिक से अधिक युवाओं को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के लिए कार्य-योजना बनायें और उसे समय-सीमा में क्रियान्वित करें। प्रत्येक जिले में रोजगार मेलों का आयोजन हो और इसका विस्तार विकासखंड स्तर तक करें। मुख्यमंत्री श्री चौहान मंत्रालय से सभी कमिश्नर, कलेक्टर, आई.जी. तथा एसपी स्तर के अधिकारियों की वीडियो कॉन्फ्रेंस के द्वितीय सत्र को संबोधित कर रहे थे।वीडियो कॉन्फ्रेंस में मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस तथा पुलिस महानिदेशक श्री वी.के. जौहरी उपस्थित थे। द्वितीय सत्र में स्वच्छता संर्वेक्षण-2021, गो-सेवा योजना, रोजगार मेलों के आयोजन, मनरेगा योजना, यूरिया व खाद की उपलब्धता, मिलावट से मुक्ति अभियान, वनाधिकार पट्टों के वितरण, गेहूँ उपार्जन, नवीन गौण खनिज नियमों के क्रियान्वयन, जल-जीवन मिशन, अटल भू-जल योजना, चिट फंड कंपनियों, अवैध शराब के विरूद्ध कार्रवाई और बालिकाओं तथा महिलाओं के विरूद्ध अपराध संबंधी प्रकरणों की समीक्षा की गई।

Post a comment

 
Top