दसाई। 13 जुलाई 2002 में सरदारपुर तहसील के सबसे बडे गाँव दसाई में टप्पा तहसील का श्रीगणेश नया बाजार के पंचायत भवन में किया गया था वही कुछ माह तक कार्यालय में कामकाज भी चला लेकिन धीरे-धीरे सारा कामकाज बंद हो गया। बंद पडे टप्पा तहसील की पूनः प्रारम्भ करने की आस नगर सहित आसपास के लोगो की होने लगी है। दसाई नगर सरदारपुर से 30 से 35 किलोमीटर से भी अधिक दूर होकर यहाँ के किसान ओर गरीब वर्ग के लोंगो को छोटे-छोटे कामो के लिये इतनी दूरी पर जाना होता है। विशेष तौर पर गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले परिवार के लोंगों को अपने कामों के लिये सरदारपुर की दौड लगाना मंहगा सौदा साबित होता है। नगर और आसपास के क्षेत्र को देखते हुवे तत्कालीन राजस्व मंत्री हजारीलाल रघुवंशी ने दसाई में टप्पा तहसील कार्यालय खोलने की घोषणा की थी जिस पर 13 जुलाई 2002 को तत्कालीन उपमुख्यमंत्री जमनादेवी ने नया बाजार स्थित ग्राम पंचायत के भवन में टप्पा तहसील का शुभारम्भ किया था। 

जैसे ही शुभारम्भ हुआ टप्पा कार्यालय में प्रति सोमवार को काम प्रारम्भ हो गया था और लोगो को राहत भी मिलने लगी थी,वही कार्यालय में दसाई सहित आसपास के लोग अपने कार्य के लिये सरदारपुर न जाकर दसाई में ही अपना काम कराने लिये आना प्रारम्भ कर दिया था जिससें लोगो का समय और पैसा दोनो ही बचने लगा,साथ ही जिस काम के लिए लोग पूरे दिन परेशान होते थे वही काम यहां कार्यालय खुलने पर चंद मिनटो में ही होने लगे थे। जिससे  सोमवार को कार्यालय में भीड का जमावडा लगने लगा जिससे ऐसा लगने लगा की मानो दसाई को तहसील का दर्जा मिल गया हो मगर यह सफर मात्र कुछ माह बाद ही बंद हो  गया जिससे दसाई ही नही आसपास के लोगो की आशा टुट गई ओर दसाई में टप्पा तहसील के नाम से विरान होने के साथ कार्यालय भी बंद हो गया। अब यहा टप्पा कार्यालय के कामकाज के बजाय राशन की दुकान से राशन बटने लगा।

ग्रामीणों को होती थी सुविधा - दसाई में टप्पा तहसील को प्रारम्भ करने का आदेश  अनुविभागीय अधिकारी सरदारपुर द्वारा 18 जून 2002 में कलेक्टर के ज्ञाप क्रमांक 8039 वित.1/02 धार दिंनाक 14 जुन 2002 को आदेश क्रमाकं 1003.04/री-1/2002 से 18 जुन 2002 से तहसीलदार द्वारा प्रति सोमवार को ग्राम पंचायत के भवन में कार्यालय लगाकर राजस्व कार्य को कराने का आदेश दिया गया था। टप्पा तहसील के कार्यालय में 15 अगस्त और 26 जनवरी को राष्ट्रीय पर्व पर झंडावंदन भी किया जाता रहा। इस अवसर पर राजस्व प्रतिनिधि भी अपनी उपस्थिति दर्ज  कराते थे। दसाई में टप्पा तहसील के पूनःप्रारम्भ होने पर खुंटपला, बरमंडल, चंदोडिया, वणी, घटोदा, बालोदा, भिलगुन, रालामण्डल, गलुण्डा, तलुण्डा, बामनखेडी, दन्तोली, चौटिया बालोद, पदमपुरा सहित अनेक कई गाव के लोगो को जो यंहा से 15 किलो मीटर की परिधि में है इसका लाभ मिलेगा। लम्बे समय से बंद पडे टप्पा तहसील के कार्यालय को पूनःप्रारम्भ करने के लिए विगत दिवस जनप्रतिनिधियों द्वारा अनुविभागीय अधिकारी के नाम तहसीलदार को ज्ञापन देकर दसाई में टप्पा तहसील को प्रारम्भ करने की मांग की गई। 

तो ग्रामीणों को नही होगी परेशानी - उपसरपंच दिनेश पटेल ने बताया की दसाई में टप्पा तहसील को पूनःप्रारम्भ करने के लिए ज्ञापन दिया गया हैं यदि समय रहते दसाई में टप्पा तहसील को प्रारम्भ नही किया गया तो शिघ्र ही क्रमीक भूख हडताल की जावेगी। वही ग्राम के नारायण मुकाती का कहना हे की  दसाई मे टप्पा तहसील बंद होने से काफि परेशानी का सामना करना पड रहा है। शासन को दसाई क्षेत्र को देखते हुवे शीघ्र टप्पा तहसील प्रारंभ करना चाहिये ताकि किसान वर्ग के साथ साथ विद्यालयीन छात्र छात्राओं को इसका लाभ मिल सकें।  ग्राम चोटिया बालोद के रामेश्वर पाटीदार का कहना हे की दसाई में टप्पा तहसील प्रारंभ हो जाने से हम ग्रामीणों की सरदारपुर तक की दौड बच जावेगी। जिससे हमारा समय और पैसा भी बचेगा।


कल से होगी क्रमिक भूख हड़ताल - टप्पा तहसील के पुनः प्रारंभ की माँग को लेकर कल रविवार से दसई के टप्पा तहसील मेदान नया बजार पर सुबह 10 बजे से शाम 6 बजे तक क्रमिक भूख हड़ताल की जाएगी।  

Post a comment

 
Top