दसाई। 18 वर्ष के बाद नगर में एक बार फिर टप्पा तहसील प्रारम्भ होने पर खुशी का माहौल बना। तत्कालीन उपमुख्यमंत्री जमुना देवी द्वारा 13 जुलाई 2002 में दसाई नगर में टप्पा तहसील का श्रीगणेश किया था जब मिठाई बाटी गई थी  और टप्पा का कार्यालय प्रारम्भ हो गया था। लोगो की भीड काम कराने के लिए सोमवार को लगने लगी थी, मगर यह टप्पा चंद महिनो के बाद बंद हो गया था । जब से इसे पूनःप्रारम्भ कराने के लिये दसाई की आम जनता ने कई प्रयास किये लेकिन सफलता हाथ नही लगी। आखिरकार रविवार से टप्पा कार्यालय भवन के सामने क्रमिक भूख हडताल ग्रामिणो ने की। तीन दिन तक क्रमिक भूख हडताल के बाद आमजनता को सफलता मिली और स्थाईरुप से 10 दिनो के बाद दसाई में पूनःटप्पा कार्यालय प्रारम्भ होगा इस प्रकार का आदेश दिया। टप्पा कार्यालय को प्रारम्भ कराने भूख हडताल पर बैठे ग्रामिणजनो को जिला पंचायत सदस्य संजय बघेल और एसडीएम बीएस कनेश ने मंगलवार को ज्युस पिलाकर हडताल को समाप्त कराया। जैसे ही हडताल खत्म हुई भारत माता के जयकारो से पाण्डाल गुंज उठा। 

भूख हडताल में मंगलवार को भी बडी संख्या में ग्रामिणजन मुकेश पटेल, नरेन्द्र पंवार, विजय नाहर पवन धन्नाजीवाला, बालमुकुन्द पाटीदार, विक्की राठोर, देवेन्द्र पाटीदार, राजेश बैरागी, दिनेश पटेल, पंकज सुनारिया, गोपालदास बैरागी, राकेश नाहर, कैलाश मारु, मनोहर गोयल, मुकेश नागोरिया, बन्टी परमार, झनक पाटीदार,सहित अनेक लोग उपस्थित थे। 

ग्रामीणों में हर्ष - 18 वर्ष वर्ष के बाद पुनः सफलता मिलने पर दसाई में जैसे ही टप्पा तहसील को पूनः प्रारम्भ करने का आदेश हुआ नगर में चारो ओर खुशी का माहौल बन गया। पटाखे फोडने के साथ-साथ एक-दूसरे ने बधाई दी । भूख हडताल स्थल  पर खुषी का नजारा अलग ही दिखाई दिया। एसडीएम  बीएस कनेश ने बताया कि दसाई में टप्पा तहसील का आदेश पूर्व में ही हो गया था अब यहा पर वर्तमान में दो दिन तक टप्पा कार्यालय का कार्य आज से ही प्रारम्भ कर दिया जावेगा। वही 10 दिनो के बाद सारी व्यवस्था के बाद इस सुचारु रुप से टप्पा तहसील का  काम किया जावेगा। 

बोर्ड को हटाने का निर्देश -सोमवार को आनन-फानन में राजस्व कार्यालय में सोमवार और गुरुवार को केंप लगाने का बोर्ड लगा दिया गया था। मगर भूख हडतात करने वाले ग्रामिणो के कहने पर केंप को हटाने की अनुविभागीय अधिकारी ने तुरन्त ही हटाने के साथ-साथ टप्पा कार्यालय लिखवाने के निर्देश दिये।

Post a comment

 
Top