विराज प्रजापति, सारंगी। बस स्टैंड माताजी मंदिर परिसर में पहली बार शनिवार रात खाटू श्याम की भजन संध्या हुई। श्याम भक्तों ने बाबा का भव्य दरबार सजाया और जोत प्रज्वलित की। रात 9 बजे से शुरू हुई भजन संध्या अल सुबह 3 बजे तक चली। बाबा श्याम का अलौकिक दरबार सजाया गया। बाबा की ज्योत प्रज्वलित की गई इसमें सभी श्याम भक्तों ने आहुतियां डाली। स्थानीय युवा कलाकार नवनीत सिंह परिहार के साथ  श्याम प्रेमी बंटी सोनी मक्सी ने शानदार भजनों की प्रस्तुतियां दी। इस बीच पुष्प वर्षा एवं इत्र वर्षा की गई। भजन गायक नवनीत सिंह परिहार ने भजन संध्या की शुरुआत गणेश वंदना से की इसके बाद गुरु वंदना हनुमान जी के भजन के साथ कीर्तन की है रात बाबा आज थाने आनो है,  पलकों का घर तैयार सांवरे आदि भजनों की प्रस्तुति दी। भजन गायक बंटी सोनी ने पलकों का घर तैयार सांवरे आदि कई मधुर भजनों की प्रस्तुतियां दी। बंटी सोनी ने बाबा श्याम के बारे में श्याम भक्तों को बताया। भजन गायक बंटी सोनी ने बाबा आएंगे मेरे बाबा आएंगे सच्चे दिल से सच्चे मन से शाम पुकारो बाबा आएंगे सुन लो कन्हैया अर्जी हमारी एक प्रेम दीवानी एक दर्श दीवानी एक राधा एक मीरा दोनों ने श्याम को चाहा तू मने प्यारो लागे श्याम अपने भक्तों के घर तुम गए थे गिरधर वह कौन है जिसने तुमको दी पहचान वह कोई और नहीं खाटू वाले श्याम है की शानदार प्रस्तुति दी। 

इस बीच खाटू वाले श्याम हारे के सहारे की लखदातार की तीन बाण धारी की के जयकारों से पूरा पांडाल गूंज उठा।  श्रद्धालुओं ने सर्द रात में भजनों पर नृत्य किया महिलाओं पुरुष के साथ बच्चों  भी भजनों पर नृत्य करते हुए दिखे। कार्यक्रम की शुरुआत के पहले आयोजन समिति के श्याम भक्तों ने बंटी सोनी एवं नवनीत सिंह परिहार का दुपट्टा फूल माला पहनाकर स्वागत किया। इस विशाल भजन संध्या में इंदौर, पेटलावद, बामनिया, रायपुरिया, झकनावदा, करवड, झाबुआ, थांदला, मेघनगर, राणापुर, जोबट अलीराजपुर, आलोट, रतलाम, गुजरात के गरबाडा दाहोद राजस्थान आदि कई नगर के श्याम भक्तों ने भाग लिया।  भजन संध्या में इंदौर म्यूजिशियन ग्रुप द्वारा शानदार प्रस्तुति दी। अंत में बाबा श्याम की महाआरती के बाद महा प्रसादी का वितरण किया गया।

Post a comment

 
Top