सरदारपुर। धार कलेक्टर आलोक कुमार सिंह ने शनिवार को सरदारपुर तहसील क्षेत्र के कपास्तल, चालनी, हातोद, दसई, मिण्डा आदि ग्रामों का भ्रमण किया। इस दौरान उन्होने कपास्तल में जल संसाधन विभाग के बने तालाब को दुरूस्त करने के निर्देश दिए। साथ ही कहा कि इसमें आ रहे सीपेज तथा वेस्ट वेयर की समस्या को भी दूर किया जाए। इसके बाद उन्होंने दसाई में सर्वोत्कर्ष फार्मर प्रड्युसर लिमिटेड का अवलोकन कर वहाॅ उन्होने किसानों से चर्चा की और कहा कि जो कृषक एग्रीकल्चर के साथ प्रोक्शन करना चाहते हे वे आगे आए। नई पीड़ी के बच्चे अपने क्षेत्र में कुछ अच्छा करे तो बेहतर होगा।  इसके बाद कलेक्टर सिंह ने मिण्डा के श्री माही माता मंदिर पहुॅच कर पुजन अर्चन किया। साथ ही मंदिर परिसर में आयोजित कृषक संगोष्ठी को संबोधित करते हुए उन्होने कहा कि कृषकगण जैविक खेती को अपनाऐ और पशुपालन कर वर्मीकम्पोज्ड खाद का लाभ ले। जिससे उन्हे आर्थिक रूप से भी मदद मिलेगी। हमे जमीन  की ताकत को बचा कर फसल की गुणवत्ता पर ध्यान देना होगा। इसके लिए खेती के पुराने तरीके को बदलकर नई तकनीको को अपनाना होगा। सरकार किसानों को लाभ दिलाने के लिए लगातार प्रयासरत् है। जिन किसानो का आधार कार्ड नहीं है अथवा जिनके आधार कार्ड में त्रुटि है उसे सुधराकर पीएम किसान योजना का लाभ ले। जिन किसानों ने नामांतरण, बटवारा नहीं करवाया है वे शीघ्र करवा ले जिससे उन्हे शासन की योजना का अधिक से अधिक लाभ मिल सके। ऐसे व्यक्ति जिन्होने आयुष्मान कार्ड नहीं बनवाए है, वे भी बनवा ले, ताकि उन्हे आवश्यता पडने पर परेशानी का सामना न करना पडे। उन्होने  कहा कि गांव के शिक्षित बच्चो को रोजगार के लिए कम किमत में भूमि उपलब्ध कराने के प्रयास किए जा रहे है। इस कार्यक्रम में कलेक्टर श्री सिंह ने जरूरतमंद लोगो को कम्बल का भी वितरण किया। 

इस अवसर पर मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री संतोष वर्मा ने कहा कि कृषक अपनी आय को दुगना करने के लिए अपनी लागत राशि को कम करना होगा। उन्हे जैविक खेती का उपयोग करना होगा जिससे उन्हे कम लागत में अधिक लाभ मिल सके। भ्रमण के दौरान सरदारपुर एसडीएम बीएस कलेश सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।

Post a comment

 
Top