सरदारपुर। केन्द्र की मोदी सरकार द्वारा बिना किसानो की सहमति के गुपचुप तरीके से 03 काले कानून को पारित कर दिया गया है, देश की राजधानी नईदिल्ली मे सिंधु बार्डर पर 54 दिन से पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, उत्तराखण्ड आदि राज्यो के किसान धरना प्रदर्शन कर रहे है लेकिन मोदी सरकार उनकी कोई बात नही सुन रही है और कृषि प्रधान देश मे किसान विरोधी काले कानून लाकर केन्द्र सरकार द्वारा किसानो को ठगने की कोशिश की जा रही है लेकिन देश का अन्नदाता हार मानने वाला नही है यह बात सरदारपुर विधायक प्रताप ग्रेवाल द्वारा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के निर्देश पर सोमवार को सरदारपुर से राजगढ़ तक निकाले गए विशाल ट्रैक्टर मार्च को संबोधित करते हुए कही। इस दौरान जिला कांग्रेस अध्यक्ष बालमुकुन्दसिंह गौतम, जोबट विधायक कलावती भुरिया, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष मनौजसिंह गौतम ने भी संबोधित किया।

निकाला एतिहासिक ट्रैक्टर मार्च -

ट्रैक्टर मार्च मे बड़ी संख्या मे तहसील के किसान तथा किसान कांग्रेस के नेता मोजूद थे। कई ट्रैक्टरों पर राष्ट्रीय ध्वज लगाए हुए थे तो कई ट्रेक्टरों में किसानों द्वारा देशभक्ति के गीत बजाए जा रहें। जब ट्रैक्टर मार्च सरदारपुर से प्रारंभ होकर राजगढ़ पहुँची तो लोगो द्वारा उत्सुकता के साथ देख रहे थे। ट्रैक्टर मार्च दोपहर 01 बजे खेल परिसर मैदान सरदारपुर से प्रारंभ हुआ जो बस स्टैण्ड, भोपावर मार्ग, भोपावर चौकडी से राजगढ़ आईजी चौकडी कुक्षी रोड, कुक्षी नाका, बस स्टैण्ड मार्ग, पुराना बस स्टैण्ड, मण्डी रोड से पुनः सरदारपुर पंचमुखी चौराहा होते हुए खेल परिसर मैदान पर पहुचकर समापन हुआ। ट्रैक्टर मार्च के दौरान राष्ट्रपिता महात्मा गांधी, संविधान निर्माता भीमराम अम्बेडकर, पूर्व कांग्रेसी पार्षद मन्नु पहलवान एवं आदिवासी योध्दा टंट्या मामा की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया गया। 

जिला अध्यक्ष तथा पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष ने भी चलाया ट्रैक्टर -

ट्रैक्टर मार्च में युवक कांग्रेस विधानसभा अध्यक्ष दिनेश चौधरी सहित युवक कांग्रेस के कार्यकर्ता सरकार के खिलाफ नारेबाज़ी करते हुए निकले। वही जिला कांग्रेस अध्यक्ष बालमुकुंद सिंह गौतम ने ट्रेक्टर  चलाया। जिनके साथ कांग्रेस नेता मौजूद थे। तो वही पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष मनोज गौतम ने भी ट्रैक्टर चलाया। जिनके साथ विधायक प्रताप ग्रेवाल मौजूद थे।

प्रधानमंत्री के नाम  सौपा ज्ञापन - 

ट्रैक्टर मार्च के समापन पर देश के प्रधानमंत्री के नाम पर तहसीलदार प्रेमनारायण परमार को ज्ञापन सौंपा गया। जिसमे बताया गया है कि नए कानून किसानो के लिए गहरे संकटो का कारण बन गया है। नए कानून मे व्यापारी मनमानी करेंगे। किसानो की उपज के मूल्य की ग्यारंटी नही होने से किसानो से मनमाने भाव पर उपज खरीदी जाएगी जिसमे न पारदर्शिता होगी और न ही सुरक्षित भुगतान की समुचित व्यवस्था होगी। नए कानून के अनुसार अगर किसान को उसकी उपज का भुगतान नही मिला तो किसान न ही पुलिस मे रिपोर्ट कर सकता है और न ही अदालत मे जा सकता है। यह कानून न सिर्फ किसानो के लिए बल्कि आम जन के लिए भी खतरनाक है। नए कानून से आशंका है कि कृषि क्षेत्र भी पूंजीपतियो या काॅरपोरेट घरानो के हाथो मे चला जाएगा, मंडियो को खत्म कर दिया जाएगा जिससे न्युनतम समर्थन मूल्य खत्म हो जाएगा। 

ट्रैक्टर मार्च मे ब्लाॅक अध्यक्ष रघुनंदन शर्मा,  राजगढ़ नगर परिषद अध्यक्ष, भंवरसिंह बारोड, सरदरपुर नगर परिषद  अध्यक्ष महेश भाबर, पुष्पेन्द्रसिंह राठौर, रामकन्या दिलीप वसुनिया, मैना मारू, भेरूसिंह बडगोता, चन्दरसिंह पटेल, राजेन्द्र लोहार, तोलाराम गामड, कालु गणावा, रामचन्द्र पटेल, रमेश मोलवा, जगदीश पाटीदार, सोहन पटेल, धर्मेन्द्र पटेल, केकडिया डामोर, शंकरदास बैरागी, मयाराम मेडा, नरसिंह हामड, दिनेश चौधरी, रतनलाल पडियार, राधेश्याम जाट, विरसन भगत, दिनेश मोलवा, रितेश चौधरी, भानुप्रतापसिंह, अनिल नर्वे, प्रतापसिंह खेरखेडा, गोपाल पाटीदार, मांगीलाल गाजी, कैलाश भुरिया, भारत डामर, सुयश वैष्णव, धन्ना सरपंच, कैलाश वसुनिया, भगत पटेल, तेजपालसिंह राठौर, सुरेश जाट, रमेश जाट, छगन पाटीदार, पप्पालाल जाट, रमेश जैन, टिकम पटेल, कान्हा निनामा, दरियावसिंह भुरिया, आशीष जैन, छगन मकवाना, सरदार डामर, किशन बग्गड, गब्बु निनामा, श्यामु चौधरी, नानुराम निनामा, विष्णु झणिया, अनिल चौधरी, जामसिंह अजनार, राहुल आगलेचा, मुकेश मेडा, शोभाराम औसारी, पुनम डोडियार, लोकेन्द्रसिंह सिसौदिया, त्रिलोकसिंह पडियार, विक्रम अमलियार, तुलसीराम कुमावत, बाबुलाल मावी, राजेश मेडा, लक्ष्मण खराडी, अरूण चौधरी, लोकेश हामड, दीपक पटेल आदि किसानगण एवं कांग्रेस कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

Post a comment

 
Top