राजगढ़। आचार्य प्रवर श्रीमद्विजय ऋषभचन्द्रसुरिजी महा. सा. ने संस्था के 19 वर्ष पुर्णकरने पर शुभकामना -संदेश में कहा है की  गुरुराज विद्या साख सहकारी संस्था राजगढ़ ने अपनी व्यवसायिक साख के बल पर स्थापना के 19 वर्ष पूर्णकर 14 जनवरी को 20 वें वर्ष में प्रवेश किया है। मुझे प्रसन्नता है कि संस्था के सदस्यों की एक जुटता व मेनेजमेंट टीम के सभी सदस्यों के अथक प्रयासों से सफलता की और अग्रसर होने में सफल हुई। संस्था उत्तरोत्तर प्रगति की ओर बढे यही मेरी शुभकामना व शुभाशीर्वाद है।  संसथा के अध्यक्ष वरिष्ठ अभिभाषक राजेन्द्र मेहता ने बताया कि संस्था ने 14 जनवरी 2002 मक्रर संक्रांति के अवसर पर अपना कारोबार प्रारम्भ किया था और आचार्यदेवेश श्री ऋषभचन्द्रसुरिजी महाराज सा. की मात्र एक ही ऐसी संस्था है गुरुदेव के मार्गदर्शन से संस्था ने हर ग्राहको का विश्वास प्राप्त किया है। उपाध्यक्ष सुजानमल सेठ ने कहाॅ की संस्था द्वारा अपनी बेहतर कार्यशैली से इस संस्था को कठिन परिश्रम करके आज इस मुकाम तक पहुचाया है इसमें सभी का सरहानीय योगदान है। बेहतर आर्थिक सूविधा देने एवं सामाजिक सहभागिता एवं जनकल्याण के क्षैत्र में सहयोग करने के हमेशा तत्पर है। वही संस्था के संचालक राजमल जैन ने कहा की संस्था को ओन लाईन कर ग्राहको को नई सुविधा प्रदान की जावे। संस्था के प्रबंधक संजय बाफना ने कहा है संस्था में इस कोरोना महामारी के समय भी संस्था के ग्राहको हर प्रकार की सुविधा प्रदान की इस से ग्राहको को का संस्था के प्रति विश्वास ओर गहरा गया है। कार्यकृम मे संचालक ज्ञानेन्द्र जैन, मनोहर जैन, प्रकाश पावेचा तथा शाखा के कर्मचारी  लोकेन्द्रसिंह सोलंकी, राहुल माली, प्रेमचन्द सोलंकी, आयुश दवे, लखन पवार, मुकेश परिहार, गट्टूलाल बामनीया, संजय मारु, दिनेश पवार उपस्थित थे। आभार प्रबंधक संजय बाफना ने व्यक्त किया। 

Post a comment

 
Top