नई दिल्ली। बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना और पीएम मोदी के बीच आज वर्चुअल मीटिंग होगी। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए होनेवाली इस मीटिंग में द्विपक्षीय संबंधों पर व्यपाक चर्चा होने की उम्मीद जताई जा रही है। भारत और बांग्लादेश के बीच 55 वर्ष बाद सीमा-पार रेलवे लाइन बहाल करने को लेकर सहमति होने की उम्मीद है। इसके साथ ही  कई अन्य समझौतों पर भी मुहर लग सकती है। शेख हसीना और पीएम मोदी के बीच यह बैठक विजय दिवस के ठीक एक दिन बाद होने जा रही है। विजय दिवस 1971 में बांग्लादेश युद्ध में विजय के उपलक्ष्य में मनाया जाता है। असम और पश्चिम बंगाल का बांग्लादेश से बेहतर संपर्क के लिए चिलहाटी-हल्दीबाड़ी रेलवे मार्ग का उद्घाटन होने की उम्मीद है। इसके अलावा, बांग्लादेश के राष्ट्रपिता बंगबंधु शेख मुजीबुर रहमान की जन्म शताब्दी के उपलक्ष्य में दोनों प्रधानमंत्री एक स्मारक डाक टिकट जारी कर सकते हैं। सूत्रों के मुताबिक सम्मेलन के दौरान करीब पांच समझौते होने की भी उम्मीद है। जानकारी के मुताबिक दोनों नेता पुराने रेल मार्ग -- चिलाहाटी-हल्दीबाड़ी रेल मार्ग-- को 55 वर्षों बाद पुन: खोले जाने के गवाह भी बनेंगे। इसे 1965 में भारत-पाकिस्तान युद्ध के दौरान बंद कर दिया गया था और उस समय बांग्लादेश पाकिस्तान का हिस्सा था। यह रेल मार्ग कूचबिहार और बांग्लादेश के चिलाहाटी को जोड़ेगा। बैठक में जल बंटवारा, कोविड-19 सहयोग, सीमा पर जान जाना, व्यवसाय में असंतुलन, संपर्क मार्ग और रोहिंग्या मुद्दे पर भी चर्चा हो सकती है। इस मीटिंग के दौरान साझी नदियों में जल बंटवारे पर प्रमुखता से चर्चा हो सकती है।

कोविड-19 महामारी पर द्विपक्षीय सहयोग शीर्ष एजेंडा में शामिल होने की संभावना है। बांग्लादेश के विदेश मंत्री ए के अब्दुल मोमेन का कहना है कि भारत ने हमसे वादा किया है कि वे कोविड-19 का टीका सबसे पहले बांग्लादेश को देंगे। बांग्लादेश की बेक्सिमो फार्मा ने पांच नवंबर को भारत के सीरम इंस्टीट्यूट से कोविड-19 का तीन करोड़ टीका आपूर्ति करने के लिए समझौता किया था।

Post a comment

 
Top