राजगढ़। मां की ममता के किस्से तो हमेशा सुने होगे। लेकिन निर्दयी मां किस्से भी यदा कदा सुनने मे मिल जाते है। ठंड की ठिठुरन मे बिती रात्रि लगभग दस बजे एक निर्दयी मां अपने कलेजे के टुकडे को शाल मे लिपेटकर राजगढ़ के नया बस स्टैंड स्थित धर्मशाला के बहार छोड गई। जानकारी के अनुसार बिती रात्रि मे लगभग दस बजे राजगढ बस स्टैड पर एक धर्मशाला के बहार करीब 15 दिन के बालक को कोई शाल मे छोड़ गया। रोने के की आवाज सुनकर भीड़ जुट गई और पुलिस को सुचना दी। सुचना मिलते ही राजगढ थाने से इंचार्ज एमएस वास्केल मोके पर पहुॅचे।  वास्केल ने बताया की बच्चा पुरी तरह स्वस्थ है और करीब 15 दिन का दिख रहा है। सामुदायिक स्वास्थ केंद्र भेंजकर वरिष्ठ अधिकारीयो को अवगत करवाया गया है। आगे कार्रवाई की जायेगी।

Post a comment

 
Top