सरदारपुर। तहसील से मजदूरो का पलायन जमकर हो रहा है। रोजागर पाने की आस में यहाँ के मजदूर अन्यत्र जगह जाने को मजबूर हो रहें हैं। यू तो मजदूरो को रोजगार देने के लिए रोजगार मुलक कार्यो की झड़ी लगा दी गई है एवं करोड़ो रूपये के कार्य स्वीकृत कर कार्य की गति वर्तमान में या तो शून्य है अथवा कागजों पर मजदूरो की संख्या दिखाई जा रही हैं। जिससे क्षेत्र के मजदूरों को मजदूरी नही मिल पा रही हैं। सूत्रों की माने तो ग्रामीण यांत्रिकी विकास विभाग (आरईएस) सरदारपुर में एसडीओ एवं उपयंत्री की नूराकुश्ती के चलते स्वीकृत कार्य नही के बराबर है। सूत्र बताते हैं कि उपयंत्री एवं एसडीओ के निलंबन के बाद उनके अधीनस्थ कार्यो की फाइलों का कोई अता-पता नही दिखाई दे रहा है। इस नूराकुश्ती के चलते सरदारपुर विधानसभा जो की आदिवासी बाहुल्य है। सरकार की मंशा के अनुरूप गरीब मजदूरो को रोजगार मुलक कार्य उपलब्ध करवाकर उनके जीवन में मिठास घोलना है। लेकिन अधिकारियो की लापरवाही के चलते मजदूरों की यह मिठास धूमिल हो गई है। जिला प्रशासन ध्यान दे तो मजदूरो के पलायन की गति रुक सकती हैं नहीं तो मजदूरो का पलायन यूं ही जारी रहेगा।

Post a comment

 
Top