विक्रमसिंह राठौर, अमझेरा। मार्च माह में भगोरियेे के दिन चालनी मार्ग पर राजाराम पिता सकरीया जाति भील निवासी ग्राम कबाड़कुॅआ को उसके ही सगे भाई सिताराम और उसके दोनो पुत्रों मनीष और महेश नेे मिलकर जमीन विवाद के चलते मौत के घाट उतार दिया था। जिस पर पुलिस द्वारा सिताराम को पूर्व में भी गिरफ्तार कर लियाा गया था लेकिन मनीष और महेष दोनोे ही घटना के बाद से फरार चल रहे थे जो गुजरात के जिला अमरेली में मजदुरी करने चले गये थे लेकिन आखिर वे कानुन के शिकंजे में आ ही  गये और उन्हे गुजरात से ही गिरफ्तार कर अमझेरा पुलिस थाने लाया गया तथा उन्हे सरदारपुर जेल की सलाखो के पीछे पहुॅचाया गया। इस कार्य में थाना प्रभारी रतनलाल मीणा, उपनिरीक्षक राजेन्द्रसिंह सिंगोड़, सउनि अजय वर्मा, प्रमोद चौहान, प्रधान आरक्षक राकेशकुमार शुक्ला, प्रधान आरक्षक अरूण, आरक्षक रतनसिंह कटारे, संजयसिंह व अर्जुनसिंह का सराहनिय योगदान रहा।

Post a comment

 
Top