राजगढ़। धार जिले के में अवैध हथियारो की तस्करी को रोकने के लिये पुलिस अधीक्षक धार आदित्य प्रताप सिंह ने अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक धार देवेन्द्र पाटीदार के निर्देशन में एसडीओपी सरदरपुर ऐश्वर्य शास्त्री, थाना प्रभारी राजगढ लोकेशसिंह भदौरिया व राजगढ थाने के पुलिस टीम को लगाया था। जिसके तारतम्य में एसडीओपी ऐश्वर्य शास्त्री को उनके विश्वसनीय मुखबिर के जरिये सूचना मिली कि दिनांक 15 अक्टूबर को राजगढ थाने क्षैत्र में कुछ लोग अवैध हथियार बेचने के लिये घुम रहे हैं और ग्राहक ढुंढ रहे हैं। सूचना विश्वसनीय होने से उक्त सूचना को वरिष्ठ अधिकारीयो को अवगत कराया जाकर उनके निर्देशन में एसडीओपी ऐश्वर्य शास्त्री, थाना प्रभारी लोकेशसिंह भदौरिया के व्दारा अलग-अलग पुलिस टीम तैयार कर दबिश देकर अवैध हथियार लेकर घुम रहे  दो आरोपीयो  को पकडा जिससे नाम पता पूछने पर अपना नाम राजू पिता भावसिंह अमलियार जाति भील उम्र 21 साल निवासी भीलखेडी थाना सरदारपुर जिला धार एवं नौशाद पिता फारूख मंसूरी जाति मुसलमान उम्र 30 साल निवासी ग्राम दत्तीगाँव थाना राजगढ जिला धार के रहने वाला बताया जिसे पुलिस अभिरक्षा में लेकर हिकमत अमली से पूछताछ करने पर आरोपीयो व्दारा अपने पास अवैध हथियार रखना एवं उनको मुनाफे पर बेचने के लिये  ग्राहक ढूंढना बताया और अपना जुर्म करना स्वीकार किया गया । 

दो देशी पिस्टल एवं दो देशी कट्टे किए जप्त - 

आरोपीयो ने पूछताछ करने पर बताया कि उनको रूपयो की आवश्यक्ता थी इसलिये उनके द्वारा कुछ दिन पूर्व हथियारो को एक व्यक्ति से खरीदा गया था और वह इन हथियारो को बेचने के लिये ग्राहक ढूंढ रहे थे  और इसलिये वह यह हथियार लेकर घुम रहे थे। आरोपी द्वारा उक्त जानकारी देने पर आरोपीयो  से उनके पास की दो देशी पिस्टल एवं दो देशी 12 बोर के कट्टे जप्त किये गये हैं एवं दोनो आरोपीयो से उक्त घटना के अतिरिक्त अन्य घटनाओ मे उसकी संलिपत्ता के बारे में लगातार पूछताछ की जा रही हैं। आरोपी को पकडने में एसडीओपी ऐश्वर्य शास्त्री के नेतृत्तव मे थाना प्रभारी राजगढ लोकेशसिंह भदौरिया,  एएसआई राजाराम भगोरे, एएसआई जाकिर खाँन, प्रधान आरक्षक अशरफ खाँन, प्रधान आरक्षक सैय्यद खाँन, आरक्षक सुरेश, आरक्षक सर्वेश सौलंकी, आरक्षक बदिया एवं आरक्षक मुकेश बारिया का महत्वपूर्ण योगदान रहा हैं। 

Post a comment

 
Top