राजगढ़। भारतीय आजाद परिषद के धार जिले की बैठक 22 अक्टूबर को राजगढ़ में सम्पन्न हुई। राष्ट्रीय अध्यक्ष जावेद खान ने संबोधित करते हुए कहा कि सरकार को कर्मचारी का अहित करने वाले नियम तत्काल समाप्त कर देने चाहिए। जैसा कि विदित है कि 20 साल की सेवा और 50 साल की उम्र का नियम लगाकर 16 अध्यापकों को बरख्वास्त कर दिया गया था। जब संघ ने विभाग के अधिकारियों से बात की तो उन्होंने शिक्षकों के टेस्ट में अयोग्य पाया जाना कारण बताया लेकिन यह एक षडयन्त्र रचा गया था और बरख्वास्त किये गए शिक्षकों के किसी आदेश मे उनके फेल होने का उल्लेख न कर केवल 20/50 के नियम का उल्लेख किया गया । विगत दिनों मुख्यमंत्री से संघ का एक प्रतिनिमण्डल मिला था जिसमें उन्होंने सहानुभूति पूर्वक निर्णय लेने का आश्वासन दिया है।  चर्चा के दौरान संघ के अध्यक्ष ने कहा कि सोची समझी साजिश के तहत शिक्षा के निजीकरण की तरफ अफसरशाही प्रदेश को ले जा रही है। उन्होंने कहा कि भारतीय आजाद परिषद  अध्यापकों की एवं कर्मचारियों की समस्याओं के निराकरण के अलावा भी सामाजिक, साहित्यिक, सांस्कृतिक, शैक्षणिक, खेलकूद एवं आर्थिक सुधार के क्षेत्र में भी प्रयत्नशील है।  महासचिव अजय बख़्शी ने संबोधित करते हुए कहा कि कर्मचारियों को वेतन वृद्धि और महंगाई भत्ते पर लगी रोक को तत्काल हटाया जाये। प्रदेश भर में छठवें वेतन की अंतिम किश्त का भुगतान नही किया गया है जो तत्काल होना चाहिए। स्थानांतरण के संबंध में भी शासन से मांग की गई है कि चुनाव के बाद शेष लोगो को स्वेच्छिक स्थानांतरण का लाभ दिया जाए। संगठन विस्तार पर चर्चा की गई एवम सभी पदाधिकारियों को प्रशिक्षण दिया गया कि कर्मचारियों के हितों की के लिये हमें अनवरत प्रयास में करना होगा। भारतीय आजाद परिषद के साहित्यिक एवं सांस्कृतिक परिषद के प्रदेश प्रभारी एवं राष्ट्रीय ओज कवि यशवंत चौहान ने कहा कि देश की राजनीति में मूल्यों की स्थापना करने वाले शिक्षक ही है। आज शिक्षक को पुरानी पेंशन के लागू न होने का दुःख आहत कर रहा है। कोरोना काल में शिक्षकों के बलिदानों को नगण्य एवं उपेक्षित माना जाना दुःखद है। संक्रमण काल में शिक्षकों ने हर मोर्चे पर अपना दायित्वों का निर्वहन किया है।  इस अवसर पर अनोखी लाल चौधरी, पदम सिंह मुजाल्दा, सादिक कुरैशी, जेएस मंडलोई ने भी अध्यापक संवर्ग की क्रमोन्नति, पदोन्नति, छठवे वेतनमान के एरियर एवं सातवे के भुगतान सहित गुरुजीयो की समस्याओं पर पर अपने विचार रखे। कार्यक्रम का संचालन एवं आभार भारतीय आजाद परिषद के जिलाध्यक्ष मुकेश कुमार सक्सेना ने किया।

Post a comment

 
Top