पेटलवाद। दिनांक 21 अक्टूबर की शाम को फरियादिया के द्वारा थाना पेटलावद आकर बताया कि-दिनांक 17 अक्टूबर को दशरथ जो कि फरियादिया के घर के सामने रहता है। वह फरियादिया को काम करने की बात को लेकर अपनी मोटरसाइकिल पर बैठा कर पोस्टऑफिस के ऊपर एक मकान में ले गया जहां पर हिरालाल, रितेश, कोमल एवं 1 नाबालिग पहले से अंदर बैठे थे। फिर पांचों आरोपियों ने फरियादिया के साथ बारी-बारी से गलत काम(बलात्कार) किया व धमकी दी कि यदि यह बात किसी को बताई तो तुझे जान से खत्म कर देंगे। फिर दिनांक 18 अक्टूबर को उन्ही पांचो आरोपियों ने पीड़िता को कानवन रोड तरफ जंगल में एक नाले में ले जाकर जबरदस्ती गलत काम(बलात्कार) किया एवं पून: धमकी दी जिससे कि पीड़िता डर गई। सूचना मिलते ही तत्काल थाना पेटलावद पर अपराध क्रं. 502/2020 धारा 366, 376(2) (N) ,376(D), 342, 506 भादवि एवं 3(2)V एसटी/एसी एक्ट का पंजीबद्ध किया गया। प्रकरण की गंभीरता को देखते हुए पुलिस अधीक्षक झाबुआ आशुतोष गुप्ता द्वारा थाना प्रभारी पेटलावद संजय रावत को आरोपियों को गिरफ्तार कर सख्त कार्यवाही करने के निर्देश दिये। निर्देशानुसार थाना पेटलावद के द्वारा आधा दर्जन विशेष टीमों का गठन किया गया। टीमों द्वारा सभी आरोपियों के घरों एवं अन्य जगहों पर दबीश देकर सभी पाचों आरोपियों को महज कुछ घटों में ही गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की।

इन आरोपियों को किया गिरफ्तार -  पुलिस ने आरोपी दशरथ पिता रतनलाल उम्र 27 वर्ष निवासी सुभाष मार्ग पेटलावद,  हिरालाल पिता अमरसिंह उम्र 24 वर्ष निवासी टीपाईवी थाना सरदारपुर जिला धार, रितेश पिता प्रदीप उम्र 18 वर्ष निवासी तलावपाडा पेटलावद, कोमल पिता हिरालाल उम्र 21 वर्ष निवासी तलावपाडा पेटलावद एवं एक नाबालिग आरोपी को गिरफ्तार किया है। उक्त सराहनीय कार्य में थाना प्रभारी पेटलावद सजंय रावत, उप निरिक्षक नरेश ननामा, अशोक बघेल, लोकेन्द्र, प्रधान आरक्षक दिग्विजय, फोदलसिंह, आरक्षक दंगल, पप्पूसिंह, अनिल, अरूण, मोतीलाल का योगदान रहा।

Post a comment

 
Top