सरदारपुर। आदिम जाति सेवा सहकारी समिति बरमंडल की  उचित मुल्य दुकान खुंटपला पर सार्वजनिक वितरण प्रणाली के विक्रय के लिये रखे गये गेंहू मे हेराफेरी का मामला सामने आया है। 18 सिंतबंर को ग्रामीणो ने इस हेराफेरी का पंचनामा बनाया तब कही जाकर मामला प्रकाश मे आया। ग्रामीणो ने बताया की उचित मुल्य की दुकान मे गेंहू अधिक होने पर सामने संतोष मारू के मकान मे गोदाम किराये से लेकर सैल्समैन मुन्नालाल मारू ने 352 कट्टे गेंहू के रखे थे। जैसा की तुलावटी और हम्मालो ने बताया। इस बीच 15 सिंतबंर को एक सडक दुर्घटना मे सैल्समैन मुन्नालाल मारू की मृत्यु हो गई। इस बीच जहा पर गेंहू रखा गया था। वही से करीब 162 कट्टे गेंहू गायब हो गया। मामला बढता देखकर सोसायटी प्रबधंन ने थाने पर आवेदन दैकर कार्यवाही की मांग की। पुलिस थाने से प्रधान आरक्षक दुगाप्रसाद वैष्णव ने मौका मुआयना कर पंचनामा बनाया।


सोसायटी के प्रभारी प्रबधंक बाबुलाल मारू ने बताया की हम्माल और तुलावटीयो ने बताया की उक्त किराये के गोदाम पर 352 कट्टे गेंहू, चना और चावल के उतारे गये थे।  जिसमे से उक्त कमरे मे मात्र 190 कट्टे मिले। वही भवन मालिक से दुसरे कमरे मे रखे 162 कट्टे गेंहू के बताये लेकिन सोसायटी वालो ने कहा की यह माल हमारा नही है क्योकि सोसायटी का सार्वजनिक वितरण प्रणाली का जो गेंहू आता है उस पर विधीवत टैग लगा होता है। लेकिन उक्त बोरीयो पर किसी प्रकार का टैैग नही है। वही सोसायटी प्रंबधन ने उचित मुल्य की दुकान पर एक अन्य गोदाम का ताला मृत सैल्समैन के भाई की उपस्थिती मे तोडकर उसे अपने कब्जे मे लिया। समाचार लिखे जाने तक संस्था प्रबधंन द्वारा पुरे मामले को स्पष्ट करने के लिये जांच पडताल की जा रही है।

Post a comment

 
Top