राहुल राठौड़, राजोद। कोरोना जागरूकता को लेकर पुलिस थाना परिसर में  डॉक्टर ओपी  परमार ने  बैठक ली।  जिसमे उन्होंने कहा की लोगों को ज्यादा से ज्यादा अब हैंड वॉश, सैनिटाइजर, मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा। साथ ही अब क्षेत्र में रोको टोको अभियान एवं सभी दुकानदार एवं शासकीय कार्यालयों  मास्क अनिवार्य  करने की बात कही। साथ ही डॉक्टर ओपी परमार ने ग्राम के वरिष्ठ लोगों के साथ बैठक कर लोगों को जागरूक करने के लिए भी कहा। डॉक्टर परमार ने बताया की कोरोना शहरी क्षेत्रों से ग्रामीण क्षेत्रों की ओर रुख कर गया और ग्रामीण क्षेत्रों से लोगों के घर में प्रवेश कर रहा है। यह बहुत ही चिंता का विषय है। क्षेत्र में किस तरह से लोगों को महामारी से कैसे बचाया जा सके यह सोचना बहुत जरूरी है। डॉक्टर ओपी परमार ने बताया कि  कोरोना दो तरह के मरीज होते हैं एक सिंप्टोमेटिक ओर एक अनसिंएंथेटीमेटिक। जिसमें लोगों के लक्षण मात्र सर्दी और खांसी होते हैं और वह जल्दी स्वास्थय हो जाते। अभी तक दुनिया में इसकी तैयार नहीं हुई है। इलाज सोशल डिस्टेंस  मास्क ओर सेनेटाइजर है अब लोगो इस महामारी को सीरियस लेना होगा। क्योंकि यह महामारी अब भयावक रूप ले चुकी है। इस बीमारी से कैसे लोगो बचाना यह हमारी पहली प्राथमिकता हे। साथ ही डॉक्टर परमार ने कहा कि जो दुकानदार भीड़ इकखट्टी कर कर शोशल डिस्टेंस पालन नही कर रहे आने वाले समय  मे उन पर कार्यवाही की जावेगी ओर बिना मास्क वाले ग्राहक को भी समान देने से साफ मना कर दे। डॉक्टर परमार ने कहा कि यह साल जान बचाने की साल है। इस दौरान राजोद टीआई भवर सिंह वसुनिया, आयुष अधिकारी डॉ पूजा मिश्रा, ग्राम पंचायत राजोद सरपंच प्रतिनिधि सुनील वसुनिया, सचिव  भारत सोलंकी, पटवारी रघुवीर सिंह डोडिया एवं नगर के  समस्त पत्रकार मौजूद थे। 

Post a comment

 
Top