विक्रमसिंह राठौर, अमझेरा। कहते है कि जहाॅ चाह हो वहाॅ राह निकल जाती है और यदि व्यक्ति हिम्मत से काम  ले तो बड़े से बड़ा काम भी आसान हो जाता है कुछ ऐसा ही कारनामा ग्राम पंचायत अमझेरा के छोटे से मोहल्ले बिड़फल्या के 60 वर्षिय गुलाबसिंह सुरभान ने कर दिखाया है। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत एकलाख बीस हजार की लागत से गुलाबसिंह ने मात्र दो माह में ही हलमा पद्धती से अपना आवास तैयार कर लिया लेकिन उसने कभी सपने में भी ऐसा सोचा नहीं होगा कि एक दिन उससे भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्रजी मोेदीी उससे बात करेगें और वे खुद उसका गृह प्रवेष करवायेगें। उसके परिवार में उसका पुत्र नाहरू सहीत पाॅच सदस्य है जो सभी 12 सिंतबर के दिन को  लेकर उत्साहित है। गुलाबसिंह ने भी बातचित के दौरान बताया कि वे बहुत खुष है कि उनसे प्रधानमंत्री स्वयं बात करेगें। खास बात यह कि मध्यप्रदेष से केवल तीन जिलो का धार,षहडोल एवं ग्वालियर का चयन किया गया है जिसमें धार जिले से एकमात्र ग्राम पंचायत अमझेरा के आवास को लाईव प्रसारण के लिए चयनित किया गया है। हितग्राही की लगन और मेहनत को देखकर प्रधानमंत्री आवास योजना के साथ ही पशुषेड,कपिलधारा,नंदन उद्यान,नो डेप,षौचालय जैसी योजनाओं का भी लाभ दिया गया है।
कलेक्टर सहीत अन्य अधिकारीयों ने किया निरीक्षण -  अमझेरा के बिड़फल्या के गुलाबसिंह का आवास चयन होने के बाद धार कलेक्टर आलोककुमारसिंह, अपरकलेक्टर संतोष वर्मा, मुकेश छाजेड़ प्रभारी धार, दशरथ सिग्गा जिला अधिकारी, शैलेन्द्र शर्मा सीईओ, विजय राॅय सरदारपुर एसडीएम, प्रेेमनारायण परमार तहसीलदार, विपीन जोशी ब्लाॅक समन्यवयक, मुकेश पंडित पंचायत अधिकारी सरदारपुर आदि ने हितग्राही के आवास का निरीक्षण किया।
ये हो रही तैयारीयाॅ -  आवास का चयन होने के बाद सीधे प्रसारण को लेकर अधिकारीयो के मार्गदर्षन में विभिन्न तैयारीयाॅ की जा रही है जिसके तहत हितग्राही के आवास के आगे ही टिनशेड  बनाया जा  रहा है साथ इंटनेट कनेक्षन आदि के लिए बीएसएनएल के कार्यालय से करीब 3 किमी दूर आवास स्थल तक केबल लाई गई है साथ ही कच्चे उमड़-खाबड़ मार्ग को भी दुरस्त किया गया है।

ये होती है हलमा पद्धती -  हलमा पद्धती जनजातियों में पुरानी परंपरा है जिसके तहत एक ही समुदाय अथवा ग्राम के लोग मिलकर एक-दुसरे के यहाॅ मकान निर्माण एवं कृषि संबंधी कार्य को पुरा करते है और इस कार्य का वे किसी तरह का पैसा नहीं लेते केवल कार्य करवाने वाला व्यक्ति उनके भोजन पानी का प्रबंध कर देता है। यही कारण है कि हितग्राही गुलाबसिंह का प्रधानमंत्री आवास योजना का मकान एवं शौचालय मात्र दो माह मे ही बनकर तैयार हो गया।

Post a comment

 
Top