भोपाल। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में कोरोना के उपचार की अच्छी व्यवस्था के चलते कोरोना रिकवरी रेट निरंतर बढ़ रही है, वहीं मृत्यु दर में गिरावट आ रही है। प्रदेश की कोरोना रिकवरी रेट 75.8 प्रतिशत हो गई है तथा मृत्यु दर घटकर 2.29 प्रतिशत हो गई है। प्रदेश में कोरोना के नि:शुल्क इलाज की व्यवस्था शासकीय एवं अनुबंधित निजी चिकित्सालय में की गई है। मुख्यमंत्री श्री चौहान आज मंत्रालय में वी.सी. के माध्यम से प्रदेश में कोरोना की स्थिति एवं व्यवस्थाओं की समीक्षा कर रहे थे। बैठक में मंत्रीगण, मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य श्री मोहम्मद सुलेमान उपस्थित थे।

इंदौर में सर्वाधिक प्रकरण
प्रदेश के जिलों में गत 7 दिनों में औसत दैनिक प्रकरणों की समीक्षा में पाया गया कि इस अवधि में सर्वाधिक दैनिक औसत कोरोना प्रकरण इंदौर में 212 आए हैं। वहीं भोपाल में 138, ग्वालियर में 122, जबलपुर में 109, मुरैना में 14, उज्जैन में 20, खरगौन में 25, नीमच में 24, बड़वानी में 10 तथा सागर में 16 प्रतिदिन औसत प्रकरण हैं।

भोपाल की रिकवरी रेट 81 प्रतिशत
जिलेवार समीक्षा में पाया गया कि प्रदेश में भोपाल की रिकवरी रेट 81 प्रतिशत है। इंदौर में 69 प्रतिशत तथा ग्वालियर में 75 प्रतिशत रिकवरी रेट है। मुरैना की रिकवरी रेट 94 प्रतिशत है।

पाक्षिक मृत्यु दर 1.3 प्रतिशत
प्रदेश की कोरोना मृत्यु दर निरंतर कम हो रही है। गत पखवाड़े में प्रदेश की मृत्यु दर 1.3 प्रतिशत रह गई है। ग्वालियर जिले की मृत्यु दर 0.9 प्रतिशत है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिए कि जल्दी पहचान एवं सर्वोत्तम इलाज के माध्यम से कोरोना मृत्यु दर को न्यूनतम किया जाए।

Post a comment

 
Top