सरदारपुर। मध्य प्रदेश पंचायत सचिव संगठन सरदारपुर द्वारा संगठन के आव्हान पर जनपद सीईओ शैलेन्द्र शर्मा को अपर मुख्य सचिव मध्य प्रदेश शासन के नाम एक ज्ञापन सौपा। पंचायत सचिव संगठन द्वारा सौंपे गये ज्ञापन में बताया गया कि प्रदेश में 23 हजार पंचायत सचिव प्रदेश के 52 हजार ग्रामों में कोरोना महामारी में सच्चे सैनिक की तरह संघर्ष कर रहें है। उनके कार्य एवं जवाबदेही को लेकर शासन ने इन्हें कोरोना योद्धा घोषित किया था। कोरोना योद्धा घोषित होने के बाद पंचायत सचिव अपनी जान जोखिम में डालकर दिन-रात ग्राम पंचायतों में शासकिय कार्य के अलावा कोरोना महामारी से हजारों लोगों की जान बचाने के लिए प्रयासरत है। किन्तु दुर्भाग्य से हम कोरोना योद्धाओं को प्रदेश में 2 से 5 माह का वेतन प्रदाय नही किया गया है, जिससे अल्प वेतन में कार्यरत कर्मचारियों को विभिन्न समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। ज्ञापन में पंचायत सचिवों ने यह भी बतायाउ कि जल्द ही बजट आवंटन जारी करने एवं ग्लोबल पे अकाउंट की व्यवस्था करने का निर्देश जारी करें अन्यथा सभी सचिवों को 15 जुलाई से नो पैमेन्ट नो वर्क की तर्ज पर कलमबंद का रास्ता अपनाने के लिए मजबुर होना पड़ेगा। ज्ञापन का वाचन संगठन के अध्यक्ष अजयपालसिंह राठौड़ ने किया। इस दौरान संगठन के सचिव गोपाल कुमावत, आशुतोष त्रिवेदी, इन्द्रजीतसिंह राठौड़, विक्रम कटारा सहीत अनेक पंचातय सचिव मौजुद रहें।

Post a comment

 
Top