राजगढ़। जिनशासन गौरव अध्यात्म योगी जन जन की आस्था के केंद्र आचार्य भगवंत पूज्य गुरुदेव  श्री उमेश मुनि जी महाराज साहब (अणु,) के शिष्य धर्मदास गण नायक, प्रवर्तक देव पूज्य श्री जिनेन्द्र मुनि जी म.सा आज्ञानुवर्ती महासती पूज्या  श्री पुण्यशीला जी म .सा की शिष्या, महासती साध्वी श्री सुव्रताजी म. सा, महासती साध्वी श्री सारिकजी म. सा, महासती साध्वी श्री चतुरगुणाजी म. सा, महासती साध्वी श्री करुणाजी म. सा आदि ठाणा - 4 महावीर स्थानक भवन, चबूतरा चौक की निश्रा में सोभाग्यमलजी महाराज साहब का पुण्य स्मृति दिवस मनाया। इस दौरान साध्वी महासती श्री सुव्रता जी महाराज साहब ने बताया कि आज मालव केसरी श्री सोभाग्यमलजी महाराज साहब का 36 वां पुण्य स्मृति दिवस है वाणी के जादूगर व जन-जन की आस्था के केंद्र थे। अनेक बातें साध्वी जी ने उनके जीवन पर प्रकाश डालते हुए बताई। स्थानक समाज से हितेश वागरेचा ने बताया कि आज अनेक श्रावक-श्राविकाओं ने बेले तप की आराधना की।  प्रभावना का लाभ मन्नालाल गुणवतलाल चौधरी परिवार ने लिया। आज दोपहर में 2 से 3 बजे जाप का आयोजन हुआ। जिसका लाभ शांतिलाल  कालूराम  मामा परिवार ने लिया। संतोष कुमार बुरड़ ने आठ उपवास की तपस्या की जिनकी बोली तपस्या से हुई। कुमारी चांदनी वागरेचा ने  पांच उपवास की बोली लेकर उनका स्वागत किया। वही तेला, उपवास, आयंबिल, की लड़ी चल रही है। दोपहर में महिलाओं द्वारा प्रतिदिन धार्मिकज्ञान चर्चा होती है। 

Post a comment

 
Top