भोपाल। केंद्र में एक बार फिर मध्य प्रदेश का प्रभाव बढ़ा है। जबलपुर के सांसद राकेश सिंह को लोकसभा में भाजपा के मुख्य सचेतक की जिम्मेदारी फिर से सौंपी गई है। वह 2014 में भी इस पद पर नियुक्त किए गए थे। 2018 में मप्र में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बनने के बाद उन्होंने एक व्यक्ति एक पद के फॉर्मूले पर सचेतक पद से इस्तीफा दे दिया था। अब डॉ. संजय जायसवाल को हटाकर उन्हें नियुक्त किया गया है। डॉ. जायसवाल पश्चिम चंपारण से भाजपा सांसद हैं। उन्हें मुख्य सचेतक बनाए जाने में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृृह मंत्री अमित शाह सहित संगठन में भी शीर्ष स्तर पर सहमति रही। इस नियुक्ति का मप्र भाजपा संगठन में भी खासा असर देखने को मिलेगा। सिंह को 2018 में प्रदेश संगठन की कमान विधानसभा चुनाव के ठीक पहले मिली थी।
हालांकि चुनाव में पार्टी को हार का सामना करना पड़ा था, जबकि पार्टी को वोट कांग्रेस से भी अधिक मिले थे। कांग्रेस को 41.5 प्रतिशत तो भाजपा को 41.6 प्रतिशत वोट हासिल हुए थे। इधर, 2019 में हुए लोकसभा चुनाव में भाजपा ने शानदार प्रदर्शन करते हुए 29 में से 28 सीटों पर जीत दर्ज की थी। कांग्रेस सिर्फ छिंदवाड़ा में सीट बचा सकी थी। इसमें भाजपा ने पूरे प्रदेश में 58.5 प्रतिशत वोट हासिल किए थे, लेकिन बाद में संगठन में गुटीय राजनीति का शिकार होने के चलते सिंह की कई शीर्ष नेताओं से पटरी नहीं बैठ पाई, जिसके चलते कार्यकाल पूरा होने से पहले ही उन्हें हटना पड़ा था। मुख्य सचेतक की कमान सौंपकर राकेश सिंह को अब मुख्यधारा में लाया गया है।

Post a comment

 
Top