भोपाल। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि 24 जुलाई रात्रि 8 बजे से भोपाल जिले की समस्त राजस्व सीमाओं में 10 दिवसीय कंपलीट लॉकडाउन होगा। इस दौरान दवाओ, सब्जी, फल, दूध आदि अतिआवश्यक सेवाओं की आपूर्ति सुनिश्चित की जाएगी। गरीब वर्ग की सुविधा के लिए शासकीय उचित मूल्य की दुकानें खुली रहेंगी। सभी निजी कार्यालय एवं व्यापारिक संस्थान बंद रहेंगे। सभी उद्योग चालू रहेंगे तथा औद्योगिक क्षेत्रों में आने-जाने के लिए फैक्ट्री स्वामी द्वारा अपने कर्मचारियों को जारी किए गए परिचय-पत्र मान्य किए जाएंगे। अति आवश्यक कार्य से भोपाल की सीमाओं के अंदर और बाहर जाने के‍ लिए ई-पास दिए जाएंगे। मुख्यमंत्री श्री चौहान मंत्रालय में वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश में कोरोना की स्थिति एवं व्यवस्थाओं की समीक्षा कर रहे थे। बैठक में गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्र, चिकित्सा शिक्षा, भोपाल गैस त्रासदी राहत एवं पुनर्वास मंत्री श्री विश्वास सारंग, मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस, अपर मुख्य सचिव गृह श्री एस.एन. मिश्रा, प्रमुख सचिव श्री फैज अहमद किदवई आदि उपस्थित थे। अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य श्री मोहम्मद सुलेमान इंदौर से वी.सी. से शामिल हुए।

कॉन्ट्रेक्ट ट्रेसिंग करें, संक्रमण रोके
अनूपपुर जिले की समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कॉन्ट्रेक्ट ट्रेसिंग बढ़ाने तथा संक्रमण रोकने के सभी प्रयास किए जाने के निर्देश दिए। बालाघाट जिले को ग्रामीण क्षेत्रों में विशेष सतर्कता बतरने के लिए कहा गया। छतरपुर जिले के मुख्य चिकित्सा स्वास्थ्य अधिकारी को हटाने एवं वहां बेहतर व्यवस्थाएं किए जाने के निर्देश दिए गए।

इन जिलों पर विशेष ध्यान दें
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने अधिक संक्रमण वाले जिलों भोपाल, ग्वालियर, जबलपुर, मुरैना, खरगौन पर विशेष ध्यान दिए जाने के निर्देश दिए। उज्जैन में भी अब मरीज बढ़ रहे हैं, वहां भी ध्यान दिया जाए।

मृत्यु दर में उल्लेखनीय गिरावट, इंदौर की केस स्टडी करें
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि इंदौर में कोरोना संक्रमण पर प्रभावी नियंत्रण एवं मृत्यु दर में उल्लेखनीय गिरावट हुई है। इंदौर में अप्रैल माह में 138, मई में 72, जून में 64 तथा जुलाई में 18 कोरोना मृत्यु हुई हैं। इंदौर की केस स्टडी की जाए तथा वहां की बैस्ट प्रेक्टिसेस को अन्य जिलों में भी लागू करें।

हर कोविड वार्ड में लगाएं सी.सी.टी.वी. कैमरे
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोविड अस्पतालों में इलाज का बैस्ट प्रोटोकॉल फॉलो किया जा रहा है अथवा नहीं, इसकी मॉनीटरिंग के लिए कोविड अस्पतालों में जहां सी.सी.टी.वी. कैमरे नहीं है वहां सी.सी.टी.वी. कैमरे लगाए जाएं।

मेडिकल कॉलेज शहडोल को पूरा तैयार रखा जाए
शहडोल जिले की समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिए कि वहां के मेडिकल कॉलेज को पूर्ण रूप से तैयार रखा जाए, जिससे कि आसपास के कोविड मरीजों का अच्छा इलाज सुनिश्चित किया जा सके। मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने निर्देश दिए कि प्रदेश के मेडिकल कॉलेजों में तृतीय एवं चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों की भर्ती शीघ्र की जाए।

Post a comment

 
Top