विशेष संवाददाता सुमित राठौर
बामनिया। मध्यप्रदेश शासन द्वारा रविवार को पूरे मध्यप्रदेश को लॉक डाउन का जनता का पूर्ण समर्थन मिला। लोगों ने भी लॉक डाउन को सही बताया। व पूरी तरह घर में ही कैद रहे। लॉक डाउन का व्यापक असर नगर में भी देखने को मिला। जहां पहले लॉक डाउन में लोगों द्वारा एक शटल खोलकर या आधी शटल खोलकर चोरी छिपे व्यापार कर रहे थे वे भी अब इस महामारी के संक्रमण के डर से घर में दुबके हुए हैं।  कोरोना वायरस के संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए कल भी व्यापक रूप से जागरूकता अभियान चलाया गया। पहले रविवार को नगर में व्यापार चालू रहता था उसे ध्यान में रखते हुए काफी संख्या में ग्रामीणजन अपनी जरूरतों के लिए अलसुबह से ही नगर का रुख किया पर स्थानीय पुलिस प्रशासन सुबह से मुस्तेद रहा। चौकी प्रभारी मोहन सिंह सोलंकी के नेतृत्व में लोगों को रविवार के लॉक डाउन की समझाइश दी गई साथ ही बिना मास्क के घूमने वाले लोगों को समझाइश दी गई व मोटरसाइकिल पर एक से अधिक व्यक्ति होने पर व चार पहिया वाहनों में भी निर्धारित से अधिक व्यक्ति होने पर उनके खिलाफ चालानी कार्यवाही की गई। जिससे सुबह मामूली चहल पहल रहने के बाद दोपहर बाद सड़कों पर पूरी तरह सन्नाटा छाया रहा। हालांकि रविवार के लॉकडाउन में प्रशासन द्वारा दूध , दवाओं की दुकान को खुली रखने के छूट दी गई थी। छूट के चलते मरीजों को समय पर जरूरी दवााइयाा मिल गई।  चालानी कार्यवाही के दौरान स्थानीय पुलिस चौकी प्रभारी मोहन सिंह सोलंकी , एएसआई अजबसिंह पाल, हेडकांस्टेबल चन्द्रपालसिंह राजावत, अम्बाराम कटारे आरक्षक रवि डावर, गुलाबसिंह सस्तिया, जितेन्द्र कुमार ,दिलीप बघेल ,बलवंत कुमार आदि मुस्तेदी से कंटेटमेंट एरिया की भी निगरानी कर रहे हैं।

Post a comment

 
Top