अमझेरा। अमझेरा में निकले संदिग्ध कोरोेना मरीज की मौत होने के बाद अभी तक इन्दौर से जांच की पुष्टि नहीं किये जाने को लेकर नाराज नगरजनों ने धार कलेक्टर के नाम ज्ञापन अमझेरा थाना प्रभारी रतनललाल मीणा को सौंपते हुए बताया कि अमझेरा के कोरोना संदिग्ध मरीज की जांच रिपोर्ट आठ दिन हो जाने को बाद भी सार्वजनिक नहीं की गई जिसे शिघ्र ही सार्वजनिक किया जावे तथा मरीज की मौत हार्टअटैक से होना बताई गई थी और अब  उनकेे पुत्र की रिपोर्ट भी पाजीटिव बताई जा रही है। संदिग्ध मरीज के इलाज को लेकर विभाग द्वारा लापरवाही की गई है और जांच भी बताई नहीं जा रही है। मरीज के मोहल्ले कोे पूर्व में भी कंटेनमेंट कर दिया गया था और फिर से खोल भी दिया गया था वहीं अब पुत्र की रिपोर्ट आने केे बाद मोहल्ले को भी एक बार फिर से सिल कर दिया गया है।  रिपोर्ट नहीं मिलने से नगरजनों के सहीत क्षेत्र में भय और दहशत का माहोल है साथ ही भ्रम ही स्थिति भी निर्मित हो गई है जिसे दुर किया जाना चाहिये  और यदि इस पुरे मामले में  लापरवाही उजागर होती है तो दोषियांे के खिलाफ कार्यवाही भी होना चाहिये तथा मरीज के परिवार को क्षति पहुंची है उसके लिए उन्हे मुआवजा राशी मिलना चाहीये  वहीं अमझेरा के समस्त बैंको में बढ़ती भीड़ को भी नियंत्रित किये जाने के लिए आवष्यक कदम उठाये जावें। ज्ञापन का वाचन गोपाल सोनी के द्वारा किया गया तथा ब्रजेश गुप्ता, भगवानदास खंडेलवाल, प्रकाष कुशवाह, संतोष कुशवाह, अरूण मोदी, निरज मोदी आदि अन्य उपस्थित थे।

Post a comment

 
Top