विक्रमसिंह राठौर, अमझेरा। कोरोना संकंट काल केे दौरान कई अच्छे पहलु भी देखने को मिल रहे है लाखो रूपये की खर्चीली शादीयों को जहाॅ सामान्य रूप सेे आयोजित करने केे कई मामले सामने आये वही अब पगड़ी रस्म के दौरान मृत्युभोज को भी निरस्त करते हुए कई लोग उस राशी का धार्मिक और सामाजिक कार्यो में लगाकर पुनित कार्य कर रहे है। ऐसेे ही एक मामलेे में ग्राम हातोद में राजपुत समाज की आनंदीबाई पति स्व.घिसाजी  की पगड़ी रस्म केे दौरान  उनकेे पुत्र बलवंतसिंह बड़गुजर एवं अर्जुनसिंह बड़गुजर के द्वारा मृत्युभोज के कार्यक्रम को निरस्त करते हुए उस राशी का सदुपयोेग करते हुए  क्षत्रिय राजपुत धर्मशाला हातोद में  राशी एक लाख एक हजार तेरह रू. विकास कार्य के लिए दान कर दी । उनके द्वारा की गई इस सकारात्मक पहल का समाज के अन्य लोगोे एवं ग्रामिणजनों ने सराहना की।

Post a comment

 
Top