राहुल राठौड़, राजोद। नगर एवं आसपास क्षेत्रों में कुछ कर्मचारियों की अनदेखी से हरे वृक्ष की कटाई धड़ल्ले से चल रही है।  जिसमें कई वृक्ष फलदार भी रहते हैं किंतु क्षेत्र में  फॉरेस्ट अधिकारी व राजस्व विभाग के कर्मचारियों की अनदेखी से आए दिन फलदार वृक्ष काटे जा रहे हैं। आज राजोद के हरिजन मोहल्ला स्थित धोबी घाट के नजदीक कुछ लोगों ने अपने नए निर्माण मकान के सामने हरा वृक्ष इमली का दिन में काटना शुरू कर दिया। जिसको लेकर गांव के लोगों ने आपत्ति ली एवं कहां की हरा वृक्ष को मत काटे किंतु नहीं मानने पर लोगों द्वारा सरदारपुर तहसीलदार प्रकाश परिहार को फोन पर बताया कि गांव के मध्य इमली का हारा वृक्ष काटा जा रहा है। जिस पर तत्काल तहसीलदार ने राजोद पटवारी को आदेशित कर तत्काल इमली के पेड़ को काटते हुए रोका जावे पटवारी रघुवीर सिंह डोडिया एवं उनके साथी द्वारा मौके पर जाकर मौका पंचनामा बनाया गया। पंचनामा बनाकर समझाएं दी गई। पंचनामा  रमेश पिता दयाराम हरिजन निवासी रानीखेड़ी राजोद के नाम से बनाया गया है। पटवारी द्वारा बताया गया कि मौके पर लोगों से पूछताछ करने पर बताया कि रमेश दयाराम इसे कटवा रहा है मौके पर बुलवाया गया। लोगों द्वारा पटवारी को बताया कि यह इमली का पेड़ कैलाश पिता लक्ष्मण कुम्हार व मोहन पिता फकीरचंद कुम्हार के सामने हैं। एक तरफ शासन लाखों रुपए वृक्षारोपण के लिए खर्च कर रही है दूसरी तरफ फलदार वृक्षों को काटा जा रहा है इस क्षेत्र की ओर उच्च अधिकारियो को ध्यान देना चाहिए।  

Post a comment

 
Top