नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस का संक्रमण तेजी से फैलता जा रहा है लेकिन साथ में कोरोना वायरस को हराकर ठीक होने वाले लोगों की संख्या भी तेजी से बढ़ रही है और यही वजह है कि देश में कोरोना वायरस के एक्टिव मामलों की संख्या उतनी ज्यादा नहीं है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटे यानि शुक्रवार सुबह 8 बजे से शनिवार सुबह 8 बजे तक देश में कोरोना वायरस के रिकॉर्ड 18552 नए मामले आए हैं और अब देश में कुल कोरोना वायरस मामलों का आंकड़ा बढ़कर 508953 हो गया है। हालांकि देश में अबतक आ चुके 508953 कोरोना वायरस मामलों में लगभग 39 प्रतिशत मामले ही एक्टिव हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक शनिवार सुबह बजे तक देशभर में कोरोना वायरस के कुल एक्टिव मामलों की संख्या 197837 दर्ज की गई है। देश में कोरोना वायरस की वजह से मौतों का आंकड़ा भी लगातार बढ़ रहा है और पिछले 24 घंटे के अंदर ही पूरे देश में इस वायरस की वजह से 384 लोगों की जान गई है। देशभर में अबतक यह जानलेवा वायरस 15685 लोगों की मौत का कारण बन चुका है। देशभर में कोरोना वायरस की वजह से सबसे ज्यादा मौतें महाराष्ट्र और दिल्ली में हुई हैं, महाराष्ट्र में यह वायरस अबतक 7106 लोगों की मौत का कारण बन चुका है जबकि दिल्ली में इस वायरस ने 2492 लोगों की जान ली है। 

हालांकि देश के कुल 508953 कोरोना वायरस मामलों में अधिकतर लोग ठीक हो चुके हैं, स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटे के दौरान देशभर में कोरोना वायरस से 10244 लोग ठीक हुए हैं और इस वायरस को हराकर ठीक होने वाले लोगों का कुल आंकड़ा अब बढ़कर 295880 हो गया है। देश में अब कोरोना वायरस का रिकवरी रेट 58 प्रतिशत के ऊपर पहुंच गया है। वैश्विक स्तर पर कोरोना वायरस के मामलों की बात करें तो दुनियाभर में कुल मामलों का आंकड़ा एक करोड़ के करीब पहुंच गया है, अबतक दुनियाभर में कुल 99.05 लाख कोरोना वायरस मामले सामने आ चुके हैं और 4.96 लाख से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। हालांकि पूरी दुनिया में 53.57 लाख से ज्यादा कोरोना वायरस से ठीक भी हो चुके हैं। दुनियाभर में कोरोना वायरस के सबसे अधिक मामले अमेरिका में हैं जहां पर 25.52 लाख से ज्यादा केस सामने आ चुके हैं और 1.27 लाख से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है, इसके बाद ब्राजील में 12.80 लाख से ज्यादा केस सामने आए हैं और 56 हजार से ज्यादा की जान गई है। रूस में भी 6.20 लाख केस सामने आ चुके हैं।

Post a comment

 
Top