विनोद सिर्वी, राजगढ़। कोरोना वायरस की वजह से इस बार समर्थन मूल्य पर गेहूं की खरीदी निर्धारित तारीख के अपरान्ह कि गई। एक तरफ गेहूं का बंपर उत्पादन वहीं दूसरी ओर खरीदी केंद्र पर उपज तोलने के लिए लंबी-लंबी कतारों में किसान अपने वाहन लेकर खड़े रहे। खरीदी केंद्र पर भीड़ होने की वजह से कई किसान अपनी उपज नहीं बेच सकें।प्रदेश में न्यूनतम समर्थन मूल्य पर गेहूं की खरीदी मंगलवार 26 मई को खत्म होने वाली होने वाली थी । परन्तु मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल, इंदौर और उज्जैन संभाग में कोरोना संक्रमण के कारण विलंब से शुरू हुई खरीदी और तुलाई न होने पाने के कारण इसकी अवधि 31 मई करने का निर्णय किया है। किसानों के नाम मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को दिए संदेश में कहा कि उन किसानों को चिंतित होने की जरूरत नहीं है, जो गेहूं नहीं बेच पाए हैं। 31 मई तक खरीदी की जाएगी। किसानों को एसएमएस भी भेजे जाएंगे।
वहीं मंगलवार को आदिम जाति सेवा सहकारी संस्था राजगढ़ में पुलिस थाना प्रभारी शक्तिसिंह चौहान (प्रशिक्षु डिएसपी) तथा लोकेंश सिंह भदोरिया ने निरीक्षण कर गेहूं खरीदी केंद्र से जानकारी ली तथा हम्माल व किसानों को सोशल डिस्टेंस का पालन करने व मुंह पर मास्क लगाकर बारी-बारी से अपने नंबर का इंतजार कर कतार में खड़े रहकर ही अपनी उपज खरीदी केंद्र लाने को कहा। इस दौरान राजगढ़ थाने से सत्यपाल सिंह जाट, लाखनसिंह जाट, आ. जा. सेवा स. राजगढ़ कमलेश चौधरी, कुंदन नागदिया, चंदन कोटवाल, सहित किसान मौजूद थे।


Post a comment

 
Top