भोपाल। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में गेहूँ उपार्जन का कार्य तेजी से चलाया जा रहा है। अभी तक प्रदेश में उपार्जन के लिये पंजीकृत 20 लाख किसानों में से 5 लाख 65 हज़ार किसानों ने अपना 28 लाख मीट्रिक टन गेहूँ समर्थन मूल्य पर बेच दिया है। किसानों को लगभग दो हजार करोड़ रूपये भुगतान भी किया जा चुका है। श्री चौहान मंत्रालय में वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से गेहूँ उपार्जन कार्य की समीक्षा कर रहे थे।

एक दिन में 3.18 लाख एमटी रिकॉर्ड गेहूँ उपार्जन -
प्रमुख सचिव खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण श्री शिव शेखर शुक्ला ने बताया है कि आज 58,000 किसानों ने सर्वाधिक 3 लाख 18 हज़ार एमटी गेहूँ समर्थन मूल्य पर बेचा है, जो रिकॉर्ड उपार्जन है। होशंगाबाद, गुना, हरदा तथा खंडवा जिलों में 50% किसान अपना गेहूँ समर्थन मूल्य पर बेच चुके हैं। उपार्जित गेहूँ में से 80 प्रतिशत गेहूँ का परिवहन भी किया जा चुका है।

हम्माल एवं तुलावटियों को भुगतान-
मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि कुछ स्थानों पर हम्माल एवं तुलावटियों को भुगतान ना होने की जानकारी प्राप्त हुई है। इस संबंध में यह सुनिश्चित किया जाए कि हम्माल एवं तुलावटियों को समय पर मज़दूरी का भुगतान हो जाए।

Post a comment

 
Top