झाबुआ। पूरे देश मे संपूर्ण लोक डाउन का पूर्णतः पालन करते हुए राष्ट्र हित के फैसले में साथ देते हुए पूरे देश मे केश शिल्पी परिवार आर्थिक तंगी के दौर से गुजर रहा है,वही केश शिल्पी परिवार के सामने रोजी रोटी का संकट भी खड़ा हो गया है,अपितु सरकार के द्वारा जो राशन 3महीने के लिए हर वर्ग को देने का बोला था वो भी नही मिल पा रहा है क्योंकि खाद्यान्न पर्ची के अभाव में कोई भी सोसायटी देने को तैयार नही है?इसी को लेकर खवासा केश शिल्पी परिवार द्वारा एक पत्र मुख्यमंत्री के नाम झाबुआ रतलाम अलीराजपुर सांसद गुमानसिंह डामोर को दिया जिसमें सर्वप्रथम पीपीई किट के साथ 3 घण्टे के लिए दुकान खोलने का समय अपनी व ग्राहक की सुरक्षा के साथ सभी सरकारी नियमो का पालन करते हुए इजाजत देने की मांग करी है,वही केश शिल्पी द्वारा आरोग्य सेतु एप भी सेलून व्यवसाय पर अनिवार्य करेगे,ऐसा करने से सैलून व्यवसाय के करने वाले सेन समाज के बंधुओं को कोरोना वायरस से अपना पुश्तैनी व्यवसाय करने में आसानी हो,वही पीपीई किट एवं थर्मल स्कैनिंग मशीन उपलब्ध कराने हेतु आवश्यक सहयोग प्रदान करने की मांग करी है,वही उक्त मांग दुकान नही खोलें जाने तक के सरकारी आदेश तक सम्पूर्ण जिले के केश शिल्पी परिवार को 5 हजार रुपये की आर्थिक मदद शाशन स्तर पर की जाए,वही साथ मे सरकारी खाद्यान्न सामग्री बिना पर्ची के साथ भी देने का सहयोग करने की मांग मुख्यमंत्री को सांसद के माध्यम से करी है,वही सांसद डामोर द्वारा जल्द ही निराकरण की बात समाज जनों से कही है। वही केश शिल्पी को लेकर दिल्ली सरकार ने 5हजार दे दिए है और कर्नाटक सरकार ने 5हजार रुपये देने के लिए घोषणा कर दी है,वही पूरे मध्यप्रदेश में 32हजार केश शिल्पी पंजीकृत है वही अपंजीकृत लगभग 1लाख 55हजार केश शिल्पी है जो आर्थिक तंगी के दौर से गुजर रहा है,वही मामले को लेकर पूर्व नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव से बात करना चाही तो उनका कहना था कि सही में केश शिल्पी परिवार आर्थिक दौर से गुजर रहा है जिसको लेकर में कुछ ही दिनों में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह से बात करुगा और समाज की समस्या को हल करेगे,वही अनूपपुर जिले में 22अप्रेल से हिदायत के साथ दुकान खोलने का आदेश दिया है। ज्ञापन देंने में रवि परमार, मोहित परमार, पवन परमार, अर्जुन केलवा, लालू परमार उपस्थित थे।

Post a comment

 
Top