विक्रम सिंह राठौर, अमझेरा। नेपाल से आकर अमझेरा नगर में बसे दुर्गाप्रसाद शर्मा जिन्हे लोग प्यार से बहादुर भी बुलाते है आज कोरोना के इस संक्रमण काल में भारत देश के प्रति अपनी सच्ची निष्ठा और कर्तव्यपरायणता को प्रदर्षित करते हुए एक कोेरोना योद्धा के रूप में नगर में अपनी सेवा दे रहे है। दिन में वे यहाॅ के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पर सुरक्षाकर्मी के रूप में पुरी तत्परता के साथ तैनात होकर अस्पताल के अंदर एवं बाहर परिसर में सुरक्षा की पेनी नजर रखते हुए पार्किंग आदि की व्यवस्था के साथ अपने कार्य को  ऐसी विकट समय में भी  पूरी सतर्कता  के साथ कर रहे है वहीं रात्री में जागकर पुरेे नगर की चौकीदारी भी करते है । आधी रात में जब लोग अपनी दिन भर की थकान के बाद चैेन की निंद सोते है तब बहादुर अपनी वर्दी को पहन कर हाथो में डंडा लेकर सीटी बजाते हुए नगर केे मुख्य मार्गो और विभिन्न गलियों में अकेले निडरता के साथ घुम-घुम कर नगर की चोर-बदमाशो सेे सुरक्षा करते है। वे अलसुबह मंदिर में पूजा-अर्चना करनेे के लिए भी जाते है तथा उनकी कार्य करनेे की  लगन को देखकर कई बार लोग भी सोचने पर मजबुर हो जाते है कि ये आराम कोन सेे समय करते होगें। उन्हौनेे पूर्व में स्कुलों में भी अपनी सेवाएॅ दी है तथा जब कभी भी नगरजनों को उनकी विशेष आवयकता पड़ती है वेे बिना देेर किये वहाॅ हाजिर होे जाते है तथा अपनेे सौम्य व्यवहार एवं कुशल वाणी से उन्हौने कुछ ही वर्षो में नगरजनों के मन में अपनी विषेश पहचान बना ली है। उन्होने बताया कि वे भगवान पशुपतिनाथ से यही प्रार्थना करते है कि  देश और दुनिया से यह कोेरोेना महामारी शिघ्र ही चली जाए और फिर से चारो ओेर खुशहाली छा जाए। उन्होंने बताया कि संकट की इस घड़ी में राष्ट्रहित में योगदान देते हुए मानव जीवन की रक्षा करना ही सबसे महत्वपूर्ण कार्य है।

Post a comment

 
Top