रमेश प्रजापति, (77488 77116) सरदारपुर। वैश्विक महामारी कोरोना जिले में भी पैर पसार चुकी हैं। जिससे लड़ने के लिए हमारे कोरोना वॉरियर्स दिन रात जुटे हुए हैं। प्रधानमंत्री के आव्हान पर देश 3 मई तक पूरी तरह लॉकडाउन है। इस महामारी से अगर जंग जितना है तो हम सबको घरों में ही रहना होगा और हमारे कोरोना वॉरियर्स का सहयोग करना होगा। आज हम आपको हमारे शहरी क्षेत्र में कोरोना से जंग लड़ रहे स्वास्थ्य विभाग के उन कोरोना वॉरियर्स की कहानी बताने जा रहे है जो इस महामारी में अपनी ड्यूटी केवल और केवल हमारे लिए कर रहें। इन कोरोना वॉरियर्स ने इस मुश्किल हालात में भी मुस्कुराते हुए सिर्फ यही कहा कि इस महामारी से हर हाल में हम जंग जीतेंगे और एक बार फिर मुस्कुराएगा इंडिया...
हमारी विशेष मांग पर यह कार्टून बनाकर हमे दिया है राजगढ़ नगर के अंतराष्ट्रीय स्तर के कलाकार राहुल व्यास ने और इस कार्टून के बहाने वे भी यह कह रहे है कि हमारे कोरोना वॉरियर्स का सहयोग करें और उन्ही के बूते पर हम कोरोना से जंग जीतेंगे और फिर मुस्कुराएगा इंडिया....
  बच्चों को लाड़ करने की इच्छा होती हैं, वे संक्रमित ना हो इसलिए दूरी बनाए रखती हूं - डॉ. शिला मुजाल्दा, मुख्य खंड चिकित्सा अधिकारी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सरदारपुर...

डॉ. शिला मुजाल्दा तहसील में नारी शक्ति की एक बड़ी मिशाल पेश कर रही हैं, वे लगातार महामारी से निपटने के लिए तहसील का भ्रमण कर स्वास्थ्य सेवाओं में जुटी हुई हैं। अपने दोनों बच्चो के साथ घर पर रहती हैं लेकिन वे संक्रमित ना हो इसलिए उनसे दुरी बनाए रखती हैं। डॉ. शिला मुजाल्दा पर तहसील के 223 गांवो का दारोमदार है। इस विकट परिस्थिति में पूरी लगन से जुटी हुई हैं। डॉ. मुजाल्दा प्रातः 9 बजे घर से निकलती है एवं रात्रि 11 बजे तक स्वास्थ्य सेवाओं में जुटी रहती हैं। इस दौरान में स्वास्थ्य केंद्र पर आने वाले मरीजों को भी देखती है साथ ही तहसील के हर स्वास्थ्य केंद्र एवं गांवो का भ्रमण कर लोगो का स्वास्थ्य परीक्षण भी करती हैं। डॉ. मुजाल्दा ने बताया कि प्रातः घर से निकलने के बाद देर रात्रि घर पहुँचती है। घर पर दो बच्चे है उन्हें लाड़ करने की इच्छा होती हैं, पर वे संक्रमित ना हो इसलिए उनसे दुरी बनाए रखती हैं। बच्चों के साथ खाना खाते समय शोसल डिस्टेंसिंग बनाए रखती हैं। बच्चे चिंतित भी होते है और गर्व भी करते है कि इस हमारी मम्मी इस महामारी से निपटने के लिए दिन रात जुटी है। डॉ. मुजाल्दा ने कहा कि हम निश्चित ही इस महामारी से जंग जीतेंगे और फिर मुस्कुराएगा इंडिया...

जनता से अपील - डॉ. शिला मुजाल्दा ने आम जनता से अपील करते हुए कहाँ की सभी घर पर रहेंगे तो ही सुरक्षित रहेंगे। हर हाल में शोसल डिस्टेंसिंग का पालन करें और अगर कोरोना का संक्रमण लगे तो तत्काल ही स्वास्थ्य केंद्र पर जाँच कराए साथ ही बहार से आए लोगो की सूचना भी देवे, ताकि उनका भी स्वास्थ्य परीक्षण किया जा सकें।

  घर पर रहता हूँ तो घरवालों से दूर, पर हम यह जंग जीतेंगे जरूर - डॉ. एमएल जैन, मेडिकल ऑफिसर, सामुदायीक स्वास्थ्य केंद्र सरदारपुर...

डॉ. एमएल जैन विगत कई वर्षों से सरदारपुर अस्पताल में अपनी सेवा दे रहें। लेकिन कोरोना महामारी से निपटने के लिए वे दिन रात जुटे हुए हैं। घर पर जाते हैं पर घरवालों से दूर रहते हैं। उनका एल अलग ही कमरा है जिसमे वे अकेले रहते हैं। घरवालों के साथ बैठकर खाना खाते हैं, लेकिन उसमें सोशल डिस्टेंस बनाकर रखते हैं। डॉ. जैन के पुत्र सुमित जैन एवं पुत्री सलोनी जैन भी डॉक्टर है। इस महामारी में वे भी अपने पिता का साथ देने में नही चूकते है। डॉ जैन प्रातः 7 बजे से देर रात्रि तक सेवा देते हैं। स्वास्थ्य केंद्र पर आने वाले मरीजो को परीक्षण करने के साथ ही ग्रामीण क्षेत्र का भी दौरा करते हैं। डॉ. जैन ने बताया कि कोरोना महामारी से निपटने के लिए पूरी तरह जुटे हैं, घर वाले पहले बहुत चिंता करते थे। लेकिन उन्हें समझाईश दी की इस समय उनका बेहद जरूरी है बाहर रहकर स्वास्थ्य सेवा देना। डॉ. जैन ने बताया कि रात्रि के घर पहुचने के बाद अलग रूम में रहते हैं, खाना पीना भी अलग ही रहता है। घर में शोसल डिस्टेंस बनाए रखते हैं। डॉ. जैन ने कहा कि अगर आमजन घर पर रहेंगे एवं लॉकडाउन का पूर्ण पालन करेंगे तो निश्चित ही इस महामारी से जल्द ही जंग जीत जाएगे और फिर मुस्कुराएगा इंडिया...

जनता से अपील - डॉ. एमएल जैन ने तहसील की समस्त जनता से अपील की है कि वे लॉकडाउन का पूर्ण रूप से पालन करें एवं शासन के निर्देशों का पालन करें। घर से बाहर ना निकले और सामाजिक दुरी बनाए रखें। घबराएं नही बस सावधानियां रखें।
 बच्चे इंदौर में रहते हैं, पत्नी महू में  दे रही सेवा, वीडियो कॉल से बात करके पूछ लेते हैं हाल चाल - डॉ. नितिन जोशी, मेडिकल ऑफिसर सामुदायीक स्वास्थ्य केंद्र सरदारपुर..

डॉ. नितिन जोशी सामुदायीक स्वास्थ्य केंद्र पर सेवा दे रहें हैं। कोरोना महामारी से निपटने के लिए वे अस्पताल के साथ ही फिल्ड वर्क भी कर रहें हैं। प्रातः 8 बजे से देर रात्रि तक ड्यूटी कर रहें हैं, इस दौरान आने वाले मरीजो का स्वास्थ्य परीक्षण करने के साथ ही इमरजेंसी सेवा, पोस्ट मार्टम एवं फिल्ड वर्क भी कर रहें हैं। वे सरदारपुर में अकेले ही रह रहें हैं। बच्चे इंदौर में रहते हैं एवं पत्नी डॉ. रूपाली जोशी महू में सेवाएं देती हैं, लेकिन फिलहाल शासन के निर्देश पर वे संवेदनशील क्षेत्र में सेवा दे रही हैं। डॉ. जोशी ने बताया की प्रातः से ही स्वास्थ्य सेवाओं में जुट जाते हैं। इस महामारी को अगर खत्म करना है तो घरों में रहकर ही खत्म किया जा सकता है। डॉ. जोशी ने बताया कि बच्चे चिंता करते हैं लेकिन रात्रि में बच्चो से वीडियो कॉल पर बात करके हालचाल जान लेते हैं एवं आश्वसत करते हैं कि इस महामारी में वे अपना ध्यान रख रहें हैं। डॉ. जोशी ने कहा कि अगर सभी घर पर रहेंगे तो कोरोना जैसी महामारी से बचा जाएगा। सभी डॉक्टर इससे निपटने के लिए तैयार हैं हम कोरोना से जंग जरूर जीतेंगे और फिर मुस्कुराएगा इंडिया...

जनता से अपील - डॉ. नितिन जोशी ने आम जनता से अपील की है कि शासन के हर निर्देश का पालन करें। घर पर रहें और सुरक्षित रहें। जरूरी काम हो तो बिना मास्क के घर से बाहर ना निकले। बहार से आने वालो की जानकारी दे ताकि उनका स्वास्थ्य परीक्षण कर सकें।
    माँ कहती हैं तुम्हे कुछ नही होना चाहिए, क्योकि अभी तुम्हे बहुत लोगो की सेवा करनी है - डॉ. राहुल कुमार कुलथिया मेडिकल ऑफिसर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र राजगढ़ 

डॉ. राहुल कुलथिया राजगढ़ के ही निवासी है और राजगढ़ में ही लोगों को सेवाएं दे रहें हैं। डॉ. कुलथिया प्रातः 9 बजे से देर रात्रि तक स्वास्थ्य सेवाओं में जुटे रहते हैं। ताकि कोरोना महामारी नगर में दस्तक ना दे सकें। इस महामारी के बीच डॉ. कुलथिया अस्पताल में मरीजो का स्वास्थ्य परीक्षण करते ही है इसके अलावा जरूरत पड़ने पर एवं परिस्थिति को देखते हुए लोगो के घर पर पहुँचकर भी उनका स्वास्थ्य परीक्षण करते हैं। घर वालो को संक्रमण से बचाने के लिए दोपहर का भोजन अस्पताल में ही करते हैं। डॉ. कुलथिया ने बताया कि घर वालो को बड़ी चिंता रहती हैं। कुछ समय पहले माताजी बीमार हुई थी काफी उपचार के बाद वे अब स्वस्थ्य हुई हैं। घर से निकलते ही वे यही बात कहती है कि तुम अपना ध्यान रखना, तुम्हे कुछ नही होना चाहिए क्योंकि अभी बहुत लोगो की तुम्हे सेवा करनी है। डॉ. कुलथिया ने बताया कि घरवालो को कोरोना का संक्रमण ना हो इसलिए वे दोपहर का भोजन करने घर नही जाते बल्कि अस्पताल में ही भोजन करते हैं। रात्रि में घर पर जाते ही कपड़े गर्म पानी में डाल देता हूँ। घर में भी सोशल डिस्टेंस बनाकर रखता हूँ। माताजी कहती है कि बिना किट पहने ड्यूटी मत करना मैं उन्हें आश्वस्त करता हूं एवं घरवालों को समझाता हूं की इस महामारी से निपटने के लिए हमारे द्वारा सेवा देना बेहद जरूरी हैं। हम कोरोना से आम जनता के सहयोग से यह जंग जितेंगे और एक बार फिर मुस्कुराएगा इंडिया...

जनता से अपील - डॉ. राहुल कुमार कुलथिया ने आमजनता से अपील करते हुए कहाँ की इस महामारी से बचने के लिए आमजन ज्यादा से ज्यादा समय घर पर ही बिताएं एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें, मुँह ढक कर रखें। डॉ. कुलथिया ने कहाँ की कैंसर जैसी भयावह बीमारी हमे बचने के लिए कुछ समय देती है लेकिन कोरोना महामारी हमे जीने के लिए थोड़ा समय भी नही देगी। इसलिए जनता से अपील है कि अपने जीवन का महत्व समझे एवं अपने घरों में ही रहें।

(शहरी क्षेत्र में कोरोना से जंग लड़ रहे स्वास्थ्य विभाग के  साथ  पुलिस , प्रशासनिक अमला कोरोना को हराने में मुस्तैदी से  जुटा हुआ है... हमारे कोरोना वॉरियर्स के प्रति अगर आप अपनी संवेदना प्रकट करना चाहते है तो हमारी इस खबर को शेयर कर उनका हौसला बढ़ाए.. आगामी दिनों में ग्रामीण क्षेत्र में सेवा दे रहे स्वास्थ्य विभाग के कोरोना वॉरियर्स की भी इनसाइड स्टोरी से हम आपको अवगत करवाएंगे.. घर पर रहें.. सुरक्षित रहें...)

Post a comment

 
Top