नई दिल्ली। पूरी दुनिया के साथ-साथ भारत भी कोरोना वायरस के कहर से जूझ रहा है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, भारत में रविवार सुबह तक कोविड-19 से संक्रमित लोगों की संख्या 3374 तक पहुंच गई है। राहत की बात यह है कि इनमें से 266 लोग पूरी तरह ठीक हो चुके हैं और इनमें से बहुतों को अस्पताल से भी छुट्टी मिल गई है। इस खतरनाक वायरस के चलते 77 लोगों की मौत भी हुई है जबकि एक शख्स को माइग्रेट किया गया है। बता दें कि 525 नए मामले सामने आने के चलते शनिवार को भारत में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 3072 हो गई थी। वहीं, शनिवार तक 212 लोग ठीक हुए थे या उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई थी। भारत में कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित सूबा महाराष्ट्र है। इसके बाद तमिलनाडु, दिल्ली और केरल का नंबर आता है। दिल्ली और तमिलनाडु में सामने आए मामलों में अधिकांश तबलीगी जमात से जुड़े हैं। बता दें कि तबलीगी जमात से जुड़े कोरोना वायरस के मामलों के चलते देश में लॉकडाउन लगभग फेल होने के कगार पर पहुंच गया था। जमात के लोग निजामुद्दीन के मरकज में हुए मजहबी इजलास के बाद पूरे देश में फैल गए थे और अपनी लापरवाही से वायरस का प्रसार कर दिया। जमात की वजह से स्थिति किस हद तक बिगड़ी इसका अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि भारत में  अभी तक सामने आए कुल मामलों में से 25 फीसदी से ज्यादा किसी न किसी रूप में जमात से जुड़े हैं।

Post a comment

 
Top